भाजपा नेताओं की किरकिरी, जोगी कांग्रेस के पार्षद शहीद राइन ने किया प्रवेश का खंडन

पेंड्रा। भाजपा ने जोगी कांग्रेस के जिस पार्षद को पार्टी प्रवेश करना बताया आज उसने साफ रूप से कह दिया कि वे अपने मित्र पार्षदों के साथ आए थे, न उन्होंने भाजपा की सदस्यता ली है और न भाजपा प्रवेश किया है। भाजपा के लोग इसे गलत ढंग से प्रचारित कर रहे हैं। खुद को जोगी कांग्रेस का वफादार सिपाही बताते हुए कहा कि वे पूरे जीवनभर जोगी कांग्रेस में ही रहेंगे।

पेंड्रा नगर पंचायत में जोगी कांग्रेस से निर्वाचित पार्षद शहीद राइन ने आज दिल्ली बुलेटिन से विशेष बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा के लोग गलत ढंग से बयानबाजी और प्रचार कर रहे हैं। इस बात को उन्होंने स्वीकार किया कि अपने मित्र पार्षदों के साथ वे बिलासपुर आए थे और भाजपा कार्यालय भी गए। वहां उन्होंने जब भाजपा प्रवेश से इनकार किया तब भाजपा कार्यालय में मौजूद नेताओं ने यह कहा कि उनका हम स्वागत कर रहे हैं। स्वागत करने के नाम पर मैं इनकार नहीं किया। वहां मुझे माला पहनाया गया और सभी वापस पेंड्रा आ गए। यहां आने के बाद मालूम हुआ कि मेरा नाम भी भाजपा प्रवेश करने वाले पार्षदों में है। शहीद राइन ने कहा कि भाजपा नेताओं को इस ढंग से प्रचार नहीं करना चाहिए। गणेश जायसवाल और पारस चौधरी के नाम का उल्लेख करते हुए कहा कि ये मेरे मित्र हैं और ये भी पार्षद निर्वाचित हुए हैं। मैं सिर्फ उत्साहवश भाजपा कार्यालय के अंदर गया कि भाजपा में प्रवेश किस ढंग से करवाया जाता है।

उन्होंने साफ रूप से कहा कि भाजपा कार्यालय में न सदस्यता लिए और न ही किसी तरह से भाजपा प्रवेश के संबंध में फार्म भरा है। ऐसे में इस बात को कैसे प्रचारित किया जा रहा है यह समझ से परे है। साफ रूप से भाजपा प्रवेश का खंडन करते हुए कहा कि उन्हें तो धोखे में रखा गया। मैं पूरी निष्ठा के साथ जोगी कांग्रेस में हूं और आगे भी रहूंग। लगातार तीन बार मैं पार्षद निर्वाचित हुआ हूं। मैं वार्ड के और पेंड्रा की जनता का विश्वास नहीं तोड़ूंगा। मैं विषम परिस्थितियों में पार्षद निर्वाचित हुआ इसे मैं ठीक तरह से जानता हूं।