कोरोना : भ्रामक वीडियो प्रसारित करने पर एक कर्मचारी निलंबित, दूसरे को कारण बताओ नोटिस जारी

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही। कलेक्टर शिखा राजपूत ने कोरोना वायरस संक्रमण से संबंधित अपुष्ट एवं भ्रामक वीडियो के व्हाट्सएप ग्रुप में सम्प्रेषण को गंभीरता से लेते हुए दो कर्मचारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की है।

कलेक्टर ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गौरेला के संविदा लैब टेक्नीशियन उत्तम कुमार मेश्राम को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। कारण बताओ नोटिस में उल्लेखित है कि कोरोना वायरस का अपुष्ट एवं भ्रामक वीडियो सम्प्रेषण सोशल मीडिया के दुरुपयोग एवं सिविल सेवा आचरण का स्पष्ट उल्लंघन है। परिवार एवं स्वास्थ्य कल्याण विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के विपरीत सोशल मीडिया के दुरुपयोग एवं छत्तीसगढ़ सिविल सेवा नियम के अनुसार क्यों न आपको सेवा से पृथक किया जाए।

उक्त संबंध में 3 दिन के भीतर अपना जवाब प्रस्तुत करने को कहा गया है। कारण बताओ नोटिस का प्रस्तुत जवाब संतोषप्रद नहीं होने पर आपके विरुद्ध एकपक्षीय कार्यवाही की जाएगी।

कलेक्टर शिखा राजपूत ने मातृ व शिशु चिकित्सालय सेनेटोरियम गौरेला की लैब टेक्नीशियन श्रीमती शोभा बड़ा को कोरोना वायरस के संबंध में अपुष्ट व भ्रामक वीडियो व्हाट्सएप में सम्प्रेषण करने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय कार्यालय खंड चिकित्सा अधिकारी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गौरेला रहेगा।

कलेक्टर शिखा राजपूत ने कहा कि भ्रामक जानकारी प्रसारित करने पर संबंधितों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने आमजन से कहा है कि लोगों में भ्रम की स्थिति निर्मित करने वाले किसी भी प्रकार की भ्रामक जानकारी का प्रचार प्रसार न करें।