चंद्र प्रकाश बाजपेयी और मुद्रिका सिंग बने गौरेला नगर पंचायत के प्रभारी

10

पेंड्रा। नगरीय निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस ने पूर्व विधायक और वरिष्ठ कांग्रेस नेता चंद्र प्रकाश बाजपेयी और गौरेला के कांग्रेस नेता मुद्रिका सिंग को नगर पंचायत के लिए प्रभारी बनाया है। ये दोनों नेता अब गौरेला में रहकर भीतरघात सहित प्रत्याशियों की समस्याओं और प्रचार-प्रसार पर नजर रखेंगे। कांग्रेस ने इन दोनों नेताओं को नगर पंचायत चुनाव जिताने की जिम्मेदारी दी है।

नगरीय निकाय चुनाव में गौरेला का महत्व इसलिए भी बड़ जाता है कि यह अजित जोगी का गृह नगर है। यहाँ उनका अपना घर भी है। इसलिए गौरेला नगर पंचायत चुनाव में अजित जोगी सहित सभी पार्टियों की पूरी नजर लगी हुई है। यही कारण है कि जोगी परिवार अचार सहिंता के पूर्व से ही लगातार गौरेला पेंड्रा शहर में सक्रिय रहे।

अजित जोगी के नई पार्टी बनाने के बाद यहाँ का समीकरण भी बदला बदला नजर आ रहा है। सत्ता और सरकार मे भी यहाँ के नेताओं की काफी अच्छी पूछ परख है। भूपेश बघेल ने पहले ही गौरेला पेंड्रा मरवाही को जिला बनाने की घोषणा कर दी है। रही सही कसर गुलाब सिंह राज को बिलासपुर का जिला अध्यक्ष बनाकर पूरी कर दी गई। ऐसे में सत्ता और संगठन के के बोझ तले दबे कांग्रेसी पेंड्रा सहित गौरेला को भी जीतकर कांग्रेस सरकार को रिटर्न गिफ्ट अवश्य देना चाहेंगे। शायद इसलिए गौरेला नगर पंचायत का प्रभारी सीपत के पूर्व विधायक चंद्र प्रकाश बाजपेयी व जोगी कांग्रेस से कांग्रेस में आये मुद्रिका सिंग को बनाया गया है।

ज्ञात हो कि चंद्र प्रकाश बाजपेयी और मुद्रिका सिंग दोनों की पकड़ गौरेला नगर क्षेत्र सहित ग्रामीण में भी अच्छी है। ऐसे में अपने गृह नगर को जीतना जोगी कांग्रेस लिए भी एक चुनौती है। विधानसभा चुनाव के बाद यहाँ के कार्यकर्ता भी बहुत उत्साहित हैं और यहाँ के स्थानीय कांग्रेसी नेता व गौरेला पार्षद प्रत्याशियों मंशानुरूप बिलासपुर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गुलाब सिंग राज द्वारा सीपत के पूर्व विधायक चंद्र प्रकाश बाजपेयी और मुद्रिका सिंग दोनों को गौरेला नगर पचायत का चुनाव प्रभारी बनाया गया है। देखना है कि ये दोनों जोगी कांग्रेस को किस प्रकार चुनौती दे पाते हैं।