मध्य प्रदेश

व्यासपीठ से आचार्य करा रहे संकल्प: खरगोन दंगे के बाद MP में आर्थिक बहिष्कार, विधर्मियों से कोई सामान न खरीदें, न उन्हें कुछ बेचें …

भोपाल। मध्य प्रदेश के खरगोन में दंगे के बाद लोगों के बीच वैमनस्यता और बढ़ गई है। अब यह शहर से गांव तक जा पहुंची है। जिले के कई गांवों में व्यासपीठ में बैठे आचार्य व हिंदू संगठन के सदस्य जनता को सार्वजनिक रूप से एक संकल्प दिला रहे हैं। उन्हें विधर्मियों की दुकानों से कपड़ा, चप्पल या अन्य कोई भी वस्तु नहीं खरीदने की शपथ दिलवाई जा रही है। खरगोन SP रोहित कासवानी का कहना है कि इस प्रकार का वीडियो हमारे संज्ञान में भी आया है। वीडियो की जांच कर रहे हैं।

जिले के उबदी, पिपरी और इच्छापुर गांव में इस तरह के आयोजन हो चुके हैं। वहीं, बिस्टान और केली में भी ऐसे मामले सामने आए हैं। संकल्प लेने के वीडियो भी वायरल हो रहे हैं। साथ ही हाट-बाजारों में भी आर्थिक बहिष्कार की बातें सामने आ रही हैं।

यह है संकल्प

‘आज से हम संकल्प लेते हैं कि विधर्मियों की दुकानों से कपड़ा, चप्पल या अन्य कोई भी वस्तु नहीं खरीदेंगे, न ही उन्हें अपनी कोई भी वस्तु बेचेंगे। हे महाकाल, हमारे संकल्प को पूरा करने की उपयुक्त शक्ति और मनोवृत्ति प्रदान करें।’

बता दें कि 10 अप्रैल को रामनवमी पर हुए उपद्रव में शारीरिक, मानसिक, आर्थिक और धार्मिक क्षति हुई थी। इससे लोगों के मन पर गहरा घाव हुआ है, जिसके फल स्वरूप लोग अपने-अपने स्तर पर आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं।

Related Articles

Back to top button