मध्य प्रदेश

इंदौर में तांत्रिक और प्रापर्टी ब्रोकर को अगवा कर कार में बंधक बनाया, रातभर पीटते रहे, एक लाख वसूलकर छोड़ा

मुखबिरी के शक में वारदात की आशंका, 7 लोगों पर केस दर्ज, आरोपियों को तलाश रही पुलिस

इंदौर। धीरे-धीरे महानगर की ओर कदम बढ़ा रहा देश का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में अपराधों का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। आए दिन हत्या, अपहरण, जालसाजी और रेप की घटनाएं सामने आ रही हैं। अब एक तांत्रिक और प्रापर्टी ब्रोकर के अपहरण मामला सामने आया है। प्रापर्टी ब्रोकर और तांत्रिक का 7 युवकों ने अपहरण कर लिया। रातभर कार में बंधक बनाकर उनकी पिटाई करते रहे और एक लाख रुपये वसूल लिए। इसके बाद तड़के रिंग रोड पर बाम्बे अस्पताल के सामने छोड़कर भाग गए। खजराना पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ नामजद केस दर्ज किया है। बताया जाता है आरोपियों ने मुखबिरी के शक में इस घटना को अंजाम दिया है। पुलिस आरोपियों की सरगर्मी से तलाश में जुटी हुई है।

पिटाई करते हुए आरोपियों ने वीडियो भी बनाया

पीड़ित प्रापर्टी ब्रोकर हर्ष गंभीर ने पुलिस को बताया कि रात करीब साढ़े 10 बजे उसके दोस्त आनंद का काल आया था। वह उससे मिलने तुलसी नगर स्थित राधिका पैलेस गया था। उस वक्त फ्लैट में आनंद का दोस्त सोनू भी मौजूद था। कुछ देर बाद अमित व अन्य शराब की बोतल लेकर आ गए। थोड़ी देर आपस में बात की और 4 युवक अमन की कार में आनंद को ले गए। इसी दौरान कुछ युवकों ने हर्ष के साथ मारपीट की और कार में बैठाकर ले गए। उसका फोन छीन लिया और पिटाई करते हुए वीडियो बनाया। आरोपियों ने उससे रुपयों की मांग की और देवगुराड़िया तक ले गए। उससे डेढ़ लाख रुपये मांगे और रातभर पिटाई करते रहे।

तड़के दोनों को बाम्बे अस्पताल के पास छोड़कर फरार हो गए

आरोपी रातभर दोनों को कार में बंधक बनाकर पिटाई करते रहे। फिर तड़के पहले हर्ष को रिंग रोड पर बाम्बे अस्पताल के सामने छोड़कर फरार हो गए। थोड़ी देर बाद दूसरी कार आई और आनंद को छोड़ गई। आनंद ने बताया कि आरोपियों ने उसके साथ भी मारपीट की और डरा-धमकाकर एक लाख रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर करवा लिए हैं।

खजराना एसीपी जयंतसिंह राठौर ने बताया कि पिनेकल ड्रीम्स निवासी प्रापर्टी व्यवसायी हर्ष गंभीर और आनंद प्रतापसिंह की शिकायत पर आरोपी अमित, अमन, सन्नी, सागर, मोहित, सत्यम और रोहित के खिलाफ केस दर्ज किया है। टीआई ने बताया कि हर्ष के पिता राकेश गंभीर कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला के यहां काम करते हैं। मां मनमीत भी प्रापर्टी खरीदने-बेचने का काम करती है। वहीं, आनंद तंत्र क्रिया करता है। आरोपी अमित व अमन कुछ समय पूर्व कछुआ तस्करी में देवास में गिरफ्तार हुए थे। इसमें उन्हें शक था कि आनंद और हर्ष ने मुखबिरी की है। आरोपी पीड़ितों की पिटाई करते हुए कह रहे थे कि उन लोगों के कारण उनके लाखों रुपये खर्च हो गए। उन्होंने रुपये वसूलने के लिए ही अपहरण किया था।

Related Articles

Back to top button