Breaking News

स्पंदन कला एवं साहित्य संस्थान ने मनाया आतंकवाद विरोधी दिवस …

स्वतंत्र भारत के सबसे युवा प्रधान मंत्री राजीव गांधी जी की 21 मई 1991 को हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद प्रत्येक साल 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में हम मनाते चले आ रहे है ,  स्पंदन कला एवं साहित्य संस्थान छत्तीसगढ़ द्वारा भी पूर्व प्रधानमंत्री जी को श्रद्धांजलि स्वरूप समर्पित यह कार्यक्रम आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया गया ।  कवयित्री लीशा पटेल जी के शानदार संचालन में कार्यक्रम की शुरुआत इंदु साहू  के सरस्वती वंदना से हुई एवं नासूर आतंकवाद के विरुद्ध मानवता को संबलता देती रचनाएं पढी़ गई जिसमें कविता,छंद एवं ग़ज़ल शामिल रहे ।

संस्थान के अध्यक्ष प्रदीप कुमार गढ़उमरिया , सचिव तेजराम नायक, संयोजिका श्रीमती आशा मेहर, संयोजक अमित दुबे कोषाध्यक्ष चंद्रभान चंदन जैसे सभी साहित्यकारों ने आतंकवाद विरोधी दिवस पर अपना व्यक्तव्य रखा । कार्यक्रम में  उत्साह पूर्वक विविध रचनाएं पढ़ने वाले साहित्यकारों में

नेहा ठेठवार’चिंगारी जी’, प्रांतीय मीडिया प्रभारी  गुलशन खम्हारी ‘प्रद्युम्न’ जी, सुधा देवांगन “शुचि”जी, आरती मेहर “रति” जी, प्रीति यादव जी, पुष्पा पटनायक “पुष्प जी, प्रांतीय सचिव तेजराम नायक जी, राम रतन मिश्रा जी, सरगुजा संभागीय संयोजक स्नेहलता “स्नेह” जी, इन्दु साहू जी, केशिका साहू जी, संस्थान के महिला संयोजिका प्रियंका गुप्ता ‘प्रिया’ जी, एवं धनेश्वरी देवाँगन’धरा’ जी, दीपक महापात्रे जी, प्रांतीय प्रचार सचिव अजय पटनायक ‘मयंक’ जी, प्रवक्ता दुर्गा शंकर ईजारदार जी, सुशीला साहू “विद्या” जी, संयोजिका आशा मेहर’किरण’जी,एवं अमित दुबे जी,गीता उपाध्याय जी, सुखदेव सिंह राठिया जी, कमलेश यादव जी, नेमलता पटेल नम्रता जी, चन्द्रभान ‘चन्दन’ जी, प्रणव कुमार तिवारी जी एवं अध्यक्ष प्रदीप कुमार गढ़उमरिया जी शामिल रहे। कार्यक्रम में साखी गोपाल पण्डा ,जयंत यादव, व राकेश नारायण बंजारे की भी उपस्थिति रही ।

कार्यक्रम के अंत में संस्थान के कोषाध्यक्ष चन्द्रभान पटेल चंदन द्वारा   सबका आभार व्यक्त करते हुए कार्यक्रम के  समापन की घोषणा की गई । उक्त जानकारी स्पंदन कला एवं साहित्य संस्थान के प्रांतीय मीडिया प्रभारी गुलशन खम्हारी द्वारा दी गई है ।

 

 

error: Content is protected !!