Uncategorized

युवती को ग्वालियर में ससुराल वालों ने बंधक बनाकर दी प्रताड़ना, चार साल से नहीं दिया भर पेट भोजन, बनी हाड़ मांस का ढांचा ….

भोपाल । ग्वालियर में चार साल से घर में बंधक बनी महिला की एक दर्द भरी कहानी सामने आयी है। एक महिला को उसके पति और ससुरालवालों ने चार साल तक बंधक बनाकर रखा।बताया जा रहा है कि उस महिला को सिर्फ घर के काम के लिए उसे बाहर निकालते और फिर बंद कर देते। इतना ही नहीं, खाने-पीने के लिए रूखा-सूखा दिया जाता। चार साल तक वह कमरे में घुट-घुटकर रही। इस वजह से वह टीबी की बीमारी का शिकार हो गयी है। इस समय महिला की उम्र सिर्फ 25 साल है लेकिन प्रताड़ना से आज वह वास्तविक उम्र से दोगुनी आयु की लगती है। शादी के चार साल बाद पति के जुल्म के खिलाफ अब महिला ने आवाज उठाई है। पीड़िता की शिकायत पर पति और ससुरालवालों के खिलाफ मारपीट, दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कर लिया है। पीड़िता ने बताया है कि पति उसे इसलिए बंधक बनाकर रखता था कि वह उसकी प्रताड़ना का जिक्र आसपास किसी से न कर दे। पड़ोसियों से बात कर अपने घर संदेश न पहुंचा दे।

ग्वालियर में 25 साल की एक युवती को ससुराल वालों ने चार साल से बंधक बनाकर रखा। कभी पेट भर खाना नहीं दिया। इतनी प्रताड़ना के बाद आज युवती इतनी बीमार है कि वह अपनी वास्तविक उम्र से दोगुना आयु की लगती है। युवती का वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने उसे अस्पताल में दाखिल कर ससुराल वालों पर दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज किया है।

रामाजी का पुरा की 25 वर्षीय सोनिया की शादी 14 जनवरी 2018 को सुनारों की बगिया कटीघाटी के गुलफाम खां से हुई थी। गुलफाम किसी दुकान पर काम करता था। शादी सम्मेलन से होने के बाद भी सोनिया की मां ने उसे एक बाइक दी थी। पति ने दहेज में मिली बाइक बेच दी। अब वह सोनिया से मायके से दूसरी गाड़ी दिलाने की मांग करने लगा। विरोध करने पर उसे पीटने भी लगा। हद तो तब हो गई, जब सोनिया को उसने घर की नौकरानी से भी खराब व्यवहार किया। उसे एक कमरे में बंधक बनाकर रखा जाने लगा। सुबह घर के काम के लिए उसे बाहर निकाला जाता था। इसके बाद कमरे में बंद कर देता और शाम को काम से लौटने के बाद फिर बाहर निकालता। सारे काम खत्म होने के बाद फिर कमरे में बंद कर दिया जाता। करीब चार साल से यही हाल था।

सोनिया पर पति के जुल्म की इंतहा यहां भी खत्म नहीं हुई। उसे लगभग चार साल तक बंधक बनाकर रखा तो गया ही साथ ही खाने के लिए रूखी-सूखी रोटी दी जाती थी। धीरे-धीरे कमरे में सोनिया घुटने लगी और पोषण नहीं मिलने से उसे टीबी बीमारी हो गई। इस बीमारी का इलाज कराने के बदले सोनिया को उसका पति, तांत्रिक, बाबा और हकीम के पास दिखाता रहा। इन कुछ सालों में उसकी यह हालत हो गई है कि टीबी आखिरी स्टेज पर आ गई है। 25 साल की सोनिया अब दिखने में 50 साल की लगने लगी है। अभी दो दिन पहले पता चलने पर उसकी मां, सोनिया को उसके पति की अनुपस्थिति में बाहर निकालकर लाई है। इसके बाद मामले की शिकायत बहोड़ापुर थाना में की गई। पुलिस ने आरोपी पति गुलफाम के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Related Articles

Back to top button