मध्य प्रदेश

भोपाल रेलवे पुलिस की अच्छी पहल, अब बस एक मिसकॉल से यात्रियों को मिलेंगी ढेर सारी सुविधाएं

ट्रेन में सफर को आसान बनाने के लिए, जीआरपी एमपी हेल्प एप किया लांच

भोपाल। भोपाल मंडल  के स्टेशनों पर सुविधाओं को अपडेट किया है। इससे यात्रियों को महज एक मिस कॉल से मदद मिल जाएगी। यानी यदि चलती ट्रेन में कोई आपकी सीट पर बैठकर अभद्रता कर रहा है, किसी महिला के साथ गलत तरीके से बातचीत कर रहा है या कोई रिजर्व कंपार्टमेंट में शराब पी रहा है तो प्ले स्टोर से जीआरपी एमपी हेल्प एप डाउनलोड कर यात्री सिर्फ एक मिस्ड कॉल पर पुलिस सहायता प्राप्त कर सकते हैं और एफआईआर भी दर्ज करवा सकते हैं।

इस एप के जरिये मिलेंगी ये सुविधाएं

– एप्लीकेशन में आपकी ट्रेन के गार्ड से लेकर जीआरपी के एबीपी एवं समस्त जिलों के एसपी एवं थाना प्रभारियों के मोबाइल नंबर भी दर्ज किए गए हैं।

– एप में आप वीडियो और ऑडियो भी पोस्ट कर सकते हैं। अगर कोई यात्री के साथ गलत व्यवहार कर रहा है तो यात्री चाहे तो उसका वीडियो या ऑडियो भी एप में सेंड कर सकता है और अपनी परेशानी बता सकता है।

– अगर किसी यात्री का कोई सामान चोरी हो गया हो या कही छूट गया हो तो उसके लिए भी शिकायत दर्ज की जा सकेगी

इमरजेंसी के लिए मौजूद है स्पेशल बटन

एप के माध्यम ट्रेन में भी आपको कोई संदिग्ध वस्तु नजर आ रही है या कोई हथियार लेकर आतंक मचाने का प्रयास कर रहा है तो इसकी जानकारी देने के लिए एक स्पेशल बटन दिया गया है। इस बटन के माध्यम से सूचना देने पर कुछ भी समझाने है या समझने की आवश्यकता नहीं है। यह बटन इसी घटना के लिए बना हुआ है। पुरे एप के लिए कंट्रोल रूम तैयार किया गया है।

2015 से चल रहे एप को नई सुविधाओं के साथ किया अपडेट

वर्ष 2015 से संचालित सेवा को अब 5जी नेटवर्क सपोर्ट सहित इमजरेंसी क्विक रिस्पांस इंवेस्टिगेशन के लिहाज से नए स्वरूप में लांच किया है। इसका सीधा फायदा यात्रियों को होने वाला है। एप में नए अपडेशन के बाद से ही लगातार रेलवे इस एप के बारे में लोगों को जागरूक कर रहा है।

अब तक का सबसे प्रभावी एप माना जा रहा

इसे अब तक का सबसे प्रभावी हेल्प एप बताया जा रहा है। जीआरपी द्वारा अभी तक सभी सहायता कॉल में 70 फीसदी महिलाओं की संख्या शामिल है। इसके अलावा 30 फ़ीसदी ऐसे पुरुष थे, जिन्हें बर्थ पर कब्जे व कंपार्टमेंट के अंदर झगड़े की शिकायत करनी थी।

Related Articles

Back to top button