Breaking News

पीएम मोदी के संसदीय कार्यालय पर प्रदर्शन से पहले कांग्रेसी घरों में ही नजरबंद, कई लिये गए हिरासत में …

वाराणसी। किसान दिवस के अवसर पर नए कृषि कानून के विरोध में कांग्रेस ने प्रदेशव्यापी प्रदर्शन का आयोजन कर रही है। वाराणसी में कांग्रेस ने पीएम मोदी के संसदीय कार्यालय और भाजपा मंत्रियों के घर पर प्रदर्शन की तैयारी की थी। इससे पहले ही कांग्रेसियों को उनके घरों पर ही नजरबंद कर दिया गया है। प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय और गुरुधाम चौराहे पर भारी फोर्स तैनात की गई है, ताकि कोई कांग्रेसी वहां तक न पहुंच सके। कई कांग्रेसियों को हिरासत में लिया गया है।

भेलूपुर पुलिस ने गुरुधाम चौराहे से पीएम मोदी के कार्यालय जा रहे कांग्रेसी नेताओं को हिरासत में लेकर थाने पर नजरबंद किया। वहीं, अपने घरों पर नजरबंद कांग्रेसियों ने सोशल मीडिया के जरिये अपनी आवाज को बुलंद किया। कहा कि सरकार लंबे समय से किसान संगठनों के संघर्ष को नजरअंदाज कर रही है। इसलिए किसान दिवस के दिन कांग्रेस पार्टी ने सभी जिले में क्षेत्रीय सांसदों और विधायकों के घर पहुंचकर उन्हें कुंभकर्णी नींद से जगाने के लिए ताली और थाली बजा कर प्रदर्शन करने का फैसला किया था। इससे पूर्व ही पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्तों को उनके ही घरों में नज़रबंद कर दिया है।

किसान दिवस पर पीएम के संसदीय कार्यालय और विधायकों के घर का घेराव करने की योजना को विफल होता देख कार्यकर्ताओं ने अपनी रणनीति बदल दी है। चांदपुर स्थित कैम्प कार्यालय पर नजर बंद कार्यकर्ताओं ने एक दिन का भूख हड़ताल और बांह पर काली पट्टी बांध कर अपना विरोध जता रहे हैं। कांग्रेस ने सरकार से नए कृषि कानून को वापस लेने की भी मांग की है।

कांग्रेसियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय कार्यालय, मंत्री रविंद्र जायसवाल, मंत्री नीलकंठ तिवारी, मंत्री अनिल राजभर, विधायक सुरेंद्र सिंह ओढ़े, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ. अवधेश सिंह के घर ताली थाली बजाकर विरोध का एलान किया था।

जिला अध्यक्ष राजेश्वर पटेल, महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे, प्रदेश सचिव युवा कांग्रेस चंचल शर्मा, महानगर अध्यक्ष मयंक चौबे, पूर्व प्रदेश सचिव वीरेन्द्र कपूर, छात्र नेता शुभम सिंह सहित दर्जनों कांग्रेस नेताओं के घर प्रशासन ने पुलिस का पहरा लगाया है। खजुरी स्थित कैम्प कार्यालय में कांग्रेस नेता मनीष चौबे और मयंक चौबे को भी नजरबंद किया गया है। कैम्प कार्यालय में जिला अध्यक्ष राजेश्वर सिंह पटेल, जिला उपाध्यक्ष डॉ जितेंद्र सेठ, ओम शुक्ल को नजर बंद किया गया है।

Check Also

बीजेपी ने दिया गौशालाओं में ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर लगाने का आदेश, हर जिले में बनेगी हेल्प डेस्क …

लखनऊ । कोविड-19 महामारी के कारण उपजे विषम हालात के बीच उत्तर प्रदेश की योगी …

error: Content is protected !!
Secured By miniOrange