Breaking News

यास चक्रवात से निपटने प्रधानमंत्री ने ली महत्वपूर्ण बैठक, सभी सेनाओं को किया अलर्ट …

नई दिल्ली । पीएमओ ने जानकारी दी है कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने 46 टीमों को पहले से तैनात किया है। चक्रवात यासो से निपटने के लिए आज 13 टीमों को एयरलिफ्ट किया जा रहा है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री कार्यलय ने चक्रवात यास से निपटने की तैयारियों पर कहा कि भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना ने राहत, खोज, बचाव कार्यों के लिए जहाजों, हेलीकॉप्टरों को तैनात किया है।

चक्रवात यास से निपटने की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए आज पीएम मोदी ने एक बैठक की जिसमें कई मंत्री और अधिकारियों ने भाग लिया। इस बैठक में पीएम मोदी ने अधिकारियों से अपतटीय गतिविधियों में शामिल लोगों को समय पर निकालने के लिए कहा है।

पीएम मोदी ने अधिकारियों से बिजली, टेलीफोन नेटवर्क के समय को कम करने के लिए कहा है। बता दें कि  भारत मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के चक्रवाती तूफान ‘यास में बदलने की संभावना है और उसके 26 मई को पश्चिम बंगाल तथा ओडिशा तट पर पहुंचने का अनुमान है।

पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर शनिवार को कम दबाव का क्षेत्र बना जो प्रचंड चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है और 26 मई को यह पश्चिम बंगाल, ओडिशा के उत्तरी क्षेत्र और बांग्लादेश के तटों की तरफ मुड़ सकता है। यह जानकारी क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग ने दी है।

क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग के निदेशक जी. के. दास ने कहा कि 26 मई की शाम तक यह तूफान दोनों राज्यों और पड़ोसी देशों के तटों को पार कर सकता है। उन्होंने कहा कि इस दौरान पश्चिम बंगाल, ओडिशा के उत्तरी हिस्सों और बांग्लादेश के तट पर 26 मई की दोपहर हवा की गति 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है।

रक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय नौसेना ने अपने पोतों और विमानों को तैयार रखा है ताकि प्रभावित इलाकों में सहायता पहुंचाई जा सके।

error: Content is protected !!