Breaking News

नया आगाज़

आओ चलो नई शुरुवात करें
छोड़ दें उन पलों को
जिनसे ग़म के सागर में हमें डुबोया
फिर भी सीप में जैसे मोती छिपी होती है
दिल में न जाने कितने दर्द छिपे होते हैं
उन गमों को छुपाकर
हंसने का नाम ही तो जिंदगी है
कारवां चलता है
हमें रास्ता दिखाता है
सुनहरी धूप जैसे कुछ कहती है
बांट लो दर्द अपना
देकर खुशी तुम सभी को
समस्याएं तो आती रहेंगी
पतवार अपनी तुम खुद पकड़ो
जब तक मौसम है
फूल खिलते रहेंगे
नज़रों के धोखे से हमें बचना है
कुसुमित पथ अपनों का करना है
बरसात होने से पहले
बादल तो गरजते हैं
जीवन में भी बादल आएंगे
हमें आजमाने की कोशिश करेंगे
होना है तैयार हर युद्ध के लिए
झांसी की रानी हो या
महात्मा गांधी
सुभाष चन्द्र बोस हो या
गौतम बुद्ध
हर एक ने जीवन में संग्राम किया
सत्य, शांति, अहिंसा और परोपकार
इनसे मानवता की प्रतिष्ठा की
लोगों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया
सीप से मोती चुन लो
इसका है आगाज़ किया।।

[img-slider id="25744"]

©डॉ. जानकी झा, कटक, ओडिशा

Check Also

कठिन समय …

समय कठिन है [img-slider id="25744"] पर दिल कहता है यह भी गुजर जाएगा.. निश्चित ही …

error: Content is protected !!