खेल

ऑस्ट्रेलिया वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में इंग्लैण्ड को मिली करारी हार, पाइंट्स टेबल में दूसरे स्थान पर पहुंचा…

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच ब्रिसबेन के गाबा क्रिकेट मैदान पर खेले गए पहले टेस्ट मैच में मेजबान टीम ने मेहमानों को 9 विकेट से करारी शिकस्त दी। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के पाइंट्स टेबल में दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। वहीं भारत को चौथे स्थान पर खिसकना पड़ा है।

हालांकि पॉइंट्स के मामले में भारत अभी भी 42 अंकों के साथ सबसे आगे है। वहीं कंगारू टीम के इस जीत के साथ 12 अंक हो गए हैं। उनका ये वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे संस्करण का पहला मैच था। वहीं श्रीलंका 24 अंक और 100 प्रतिशत विनिंग प्रतिशत के साथ पहले स्थान पर है।

अब अगर बात करें पहले एशेज टेस्ट की तो इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने डेविड मलान के साथ मिलकर टीम को पारी की हार से तो बचा लिया। लेकिन चौथे दिन एक बार फिर इंग्लैंड की पूरी टीम ताश के पत्तों की तरह ढह गई। इंग्लैंड ने पहली पारी में सिर्फ 147 रन बनाए थे जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 425 रन बनाते हुए 278 रनों की लीड ले ली।

इसके बाद दूसरी पारी में मलान और रूट ने इंग्लैंड को कुछ हद तक संभाला और तीसरे विकेट के लिए 162 रन जोड़े। लेकिन चौथे दिन एक बार फिर पूरी टीम इसके बाद सिर्फ 64 रन और जोड़ पाई। इस तरह दूसरी पारी में इंग्लैंड ने बनाए 297 रन और ऑस्ट्रेलिया ने एक विकेट खोकर 20 रन बनाते हुए 9 विकेट से ये मैच जीत लिया।

तीसरे दिन 86 रनों पर नाबाद लौटे इंग्लिश कप्तान जो रूट से सभी को उम्मीदें थीं कि वे सचिन तेंदुलकर का 11 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ देंगे। वे कल तक सिर्फ 22 रन दूर थे ऐसा करने से लेकिन चौथे दिन वे सिर्फ तीन रन बना पाए और वापस पवेलियन लौट गए। दरअसल ये रिकॉर्ड था एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा टेस्ट रन का।

सचिन ने 2010 में 1562 रन बनाए थे। जो रूट के नाम इस साल अभी तक 1544 रन हो गए हैं। वहीं रिकी पॉन्टिंग ने भी साल 2005 में 1544 रन बनाए थे। इसके अलावा रूट अब माइकल वॉन (1481 रन,2002 में) से आगे निकलकर इंग्लैंड के लिए एक साल में सर्वाधिक टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं।

हालांकि उनके पास मौका है अभी भी मास्टर ब्लास्टर का रिकॉर्ड तोड़ने का। 16 से 20 दिसंबर तक दूसरा और 26 से 30 दिसंबर तक तीसरा एशेज टेस्ट मैच खेला जाएगा। वे अब सचिन का रिकॉर्ड तोड़ने से महज 19 रन दूर हैं। साथ ही इंग्लैंड 5 टेस्ट की इस सीरीज में 1-0 से पिछड़ने के बाद एडिलेड ओवल के मैदान पर जबरदस्त वापसी करना चाहेगी।

Related Articles

Back to top button