Breaking News

व्यव्हार में हिन्दी तो फिर कामकाज में संकोच क्यों : समीर बाजपेयी

PNB में 30 सितंबर तक चलेगा हिन्दी माह का आयोजन

 

नई दिल्ली। पंजाब नैशनल बैंक, अंचल कार्यालय, गुरुग्राम की समस्त अधीनस्थ शाखाओं/कार्यालयों में दिनांक 1 से 30 सिंतंबर तक हिंदी माह का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में समीर बाजपेयी, अंचल प्रबंधक की अध्यक्षता में दिनांक 14.09.2020 को परस्पर दूरी का पालन करते हुए अंचल कार्यालय गुरुग्राम, मण्डल कार्यालय, गुरुग्राम एवं रेवाड़ी के संयुक्त संयोजन में हिंदी दिवस मुख्य समारोह का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर विभिन्न हिंदी प्रतियोगिताओं में सफल विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। जिसमें 50 से अधिक प्रतिभागियों ने सहभागिता की। साथ ही वर्ष 2019-20 में उत्कृष्ट राजभाषा कार्यनिष्पादन करने वाली शाखाओं/अनुभागों को भी पुरस्कृत किया गया।

अंचल प्रबंधक ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह हिंदी की विशालता एवं प्रगाढ़ता ही है कि हम सभी देश के किसी भी कोने में स्थित किसी भी व्यक्ति से हिंदी में संवाद कर पाने में सक्षम हैं। राष्ट्रभाषा की यही पहचान है। अपने विस्तृत व्याख्यान में उन्होंने जोर देकर कहा कि जब हम सभी मनोरंजन, संगीत, खान-पान, व्यवहार में हिंदी को सहजता से अपनाते है तो फिर काम-काज में अपनाने में संकोच क्यों? हिंदी के प्रयोग हेतु अब इस मानसिकता को छोड़ना होगा।

उन्होंने कहा कि हिंदी हमारी राजभाषा, राष्ट्रभाषा, संपर्क भाषा के साथ ही वैश्विक भाषा भी है| साथ ही यह बेहद सरल, सहज, स्वीकार्य होने के साथ एक वैज्ञानिक भाषा है। उन्होंने बैंक के कारोबार विस्तार हेतु इसे अपनाने पर बल दिया। सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी अपने दैनिक कामकाज में मौलिक हिंदी के प्रयोग को बढाएं।

इस अवसर पर अपने स्वागत संबोधन में उप अंचल प्रबंधक संदीप कुमार मंगल ने कहा कि हिंदी देश को जोड़ने वाली महत्वपूर्ण और सशक्त कड़ी है। उन्होंने इस अवसर पर अंचल कार्यालय, मण्डल कार्यालय, गुरुग्राम एवं रेवाड़ी के राजभाषा विभाग की सराहना की।

कार्यक्रम में गृह मंत्री, मंत्रिमण्डल सचिव तथा बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी के हिंदी दिवस संदेशों का वाचन किया गया तथा इन संदेशों को अपने दैनिक कामकाज में अपनाने का संकल्प लिया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विमल धवन, उप महाप्रबंधक ने कहा कि जन-जन तक बैंकिंग सेवाओं के विस्तार तथा समाज के हर वर्ग तक पहुँचने में हिंदी की भूमिका जग-जाहिर है। उन्होंने सभी से हिंदी में काम-काज की अपील की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्रीमती निधि भार्गव, मण्डल प्रमुख, गुरुग्राम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ का नारा दिया है। इसमें बैंकों की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण हैं और सबसे उल्लेखनीय यह है कि बिना स्वभाषा के उत्थान के कोई भी राष्ट्र आत्मनिर्भर हो ही नहीं सकता।

इस अवसर पर अंचल कार्यालय, गुरुग्राम के अधीनस्थ आने वाली सभी मण्डल कार्यालयों यथा, हिसार, फरीदाबाद, सिरसा, रोहतक के प्रमुख विशेष रूप से वेब माध्यमों से जुड़े थे। सभी ने आयोजन को बेहद उपयोगी एवं सफल बताया।

संपूर्ण कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन डॉ. साकेत सहाय एवं रानी, वरिष्ठ प्रबंधक (राजभाषा) द्वारा किया गया। इस दौरान सम्मानित मंच एवं सभा को हिंदी माह के दौरान स्टाफ सदस्यों के लिए आयोजित प्रतियोगिताओ की जानकारी देते हुए अन्य क्रिया-कलापो पर विस्तृत प्रकाश डाला गया। धन्यवाद ज्ञापन परमजीत कोचर, सहायक महाप्रबंधक द्वारा किया गया।

Check Also

महाराष्ट्र ने केंद्र से कहा- कोरोना केसों में उछाल से ऑक्सीजन की किल्लत, पड़ोसी राज्यों से कराओ इंतजाम …

मुंबई । महाराष्ट्र में अब हर दिन आ रहे 50 हजार से अधिक कोरोना केसों …

error: Content is protected !!
Secured By miniOrange