छत्तीसगढ़रायपुर

8 माह में यह चौथी मौत : गरियाबंद में फिर मिला तेंदुए का शव, जंगल में शिकार या कुछ और…

रायपुर। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में एक बार फिर तेंदुए की शव मिला है। सूचना मिलते ही वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। तेंदुए की मौत आकाशीय बिजली (गाज) की चपेट में आने से होने की आशंका जताई जा रही है। मौत की असली वजह पीएम रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगा। गरियाबंद जिले में 8 महीनों में तेंदुए का शव मिलने की यह चौथी घटना है।

मिली जानकारी के अनुसार परसूली के सोहागपुर जंगल में मंगलवार देर शाम एक तेंदुए का शव मिला है। वन रक्षक चंद्रभान देखमुख ने यह शव देखा। सूचना पर वन परिक्षेत्र अधिकारी अशोक कुमार भट्ट सहित कर्मचारी घटना स्थल पर पहुंचे। वन विभाग के अधिकारियों ने शव का पंचनामा किया तो सभी अंग सलामत मिले। अफसर आशंका जता रहे हैं कि आकाशीय बिजली की चपेट में आने से तेंदुए की मौत हुई होगी। तेंदुए का शव पोस्टमार्टम के लिए परिक्षेत्र कार्यालय भेजा गया। पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत की सही वजह का पता चल सकेगा।

गरियाबंद जिले में वन्य प्राणियों के शिकार और मौत का मामला थमता नहीं दिख रहा है। इससे पहले 28 फरवरी को गरियाबंद जिला मुख्यालय से 4 किलोमीटर दूर ग्राम भिलाई में तेंदुए का शव मिला था। तेंदुए का शव 24 घंटे पुराना था। वहीं 7 जून को उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व क्षेत्र के दक्षिण उदंती क्षेत्र के जंगल में 5 वर्षीय एक नर तेंदुए का शव बरामद किया था। तेंदुए की मौत की जानकारी 4 दिन बाद वन विभाग को मिली। गरियाबंद जिले में 8 महीनों में तेंदुए का शव मिलने की यह चौथी घटना बताई जा रही है।

 

Related Articles

Back to top button