Breaking News

कांग्रेस सेवादल गर्त में पहुंच गया, गुजरात में जहां सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं ….

नई दिल्ली। कांग्रेस सेवादल को लगता है कि अब कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व ने मृतप्राय मान लिया है। सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई गुजरात से हैं और वहीं सेवादल का अब नामलेवा गिनती के लोग बचे हैं। स्थिति यह है कि दो और तीन दिसंबर 2020 को सेवादल ने यहां एक प्रादेशिक कार्यशाला आयोजित की जिसमें मुश्किल से 50 लोग शामिल हुए। यही स्थिति देश में ज्यादातर राज्यों की है। जहां पर सेवादल अब कांग्रेस संगठन की प्राथमिकता में नहीं है।

कांग्रेस संगठन में  पहले सेवादल को महत्व दिया जाता था। सेवादल में प्रशिक्षण प्राप्त करना कांग्रेस नेताओं के लिए जरूरी था। तो वहीं पदाधिकारी भी प्रशिक्षण को तवज्जो देते थे। ब्लाक, जिला, प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर सेवादल की शिविर आयोजित की जाती थी और इसी के हिसाब से संगठन के लोग इन शिविरों में उपस्थित होते थे। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में लालजी देसाई जब से आए हैं तब से सेवादल गर्त में जा रहा है। सेवादल के अध्यक्ष के रूप में लगभग तीन साल पहले लालजी देसाई की नियुक्ति हुई।  यह नियुक्ति स्वर्गीय अहमद पटेल की वजह से हुई। सेवादल के सारे कार्यक्रम धीरे धीरे ठप होने लगे। सूत्रों का कहना है कि कोरोना काल के पूर्व यानी लगभग 8 माह पहले इन्हें कांग्रेस हाई कमान ने इन्हें सेवादल के कार्यक्रमों में गति  लाने के निर्देश दिए। इसका कोई असर हुआ नहीं बल्कि राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई को ही इस दौरान दिल्ली में नहीं देखा गया। सेवा दल के कई कार्यक्रम इस दौरान हुए भी मगर राष्ट्रीय अध्यक्ष मौजूद नहीं थे।

लालजी देसाई के गृहप्रदेश गुजरात से एक प्रादेशिक कार्यशाला का आयोजन 2 और 3 दिसंबर 2020 को गोपनाद तालिम केंद्र मेरा गांव बेचराजी में आयोजित किया गया। इस कार्यशाला में मुश्किल से 50 लोग शामिल हुए। कार्यशाला की जानकारी सेवादल के ही पदाधिकारियों को नहीं थी। प्रचार-प्रसार भी नहीं किया गया। दिली बुलेटिन ने सेवादल के कई पदाधिकारियों से बात की, तो सबने शिविर को लेकर अनभिज्ञता जाहिर की। और उलटे यह कहा कि सेवादल अब कम से कम गुजरात में तो कहीं नहीं है। बगैर सेवादल के कांग्रेस को मजबूत करना चाहेंगे तो ऐसा संभव नहीं है। गुजरात में आयोजित इस कार्यशाला के संबंध में दिल्ली बुलेटिन को सेवादल के ही एक पदाधिकारी ने फोटो के साथ यह टिप्पणी भेजी है, जिसे हम हू-ब-हू प्रकाशित कर रहे हैं।

 

दोस्तों गुजरात की तस्वीर आप के साथ साझा कर रहा हूं। गुजरात में स्टेट लैवल का कैम्प चल रहा है बड़े दुःख की बात है कि आज सेवादल का ये हाल हो गया कैम्प में कैम्पर्स की संख्या देख कर शर्म आती है। हमारे अंतरिम अन्तरमुग्ध अखिल भारतीय मुख्य संगठक जो कि खुद गुजरात से है।  दोस्तों कभी हम ओर आप ये गर्व से कहते थे कि गुजरात सेवादल no-1 पर है दोस्तों हमने तो अपने जीवन में कभी सेवादल कि ऐसी दुर्दशा नहीं देखी आज एक साल होने जा रहा है क्या कोई है पूछने वाला के लालजी देसाई साहब कहाँ गुम हो सेवादल मैं तो ऐसा कोई हैं नहीं। पर सेवादल का सिपाही तो पूछेगा की सेवादल के इस हाल का जिम्मेदार कौन है जब तक राहुल गांधी जी अध्य्क्ष नही बनेगें क्या सेवादल का यही हाल रहेगा पूछता है।

-सेवादल का सिपाही

Check Also

मराठा आरक्षण और उस पर सरकार की परेशानी …

मुंबई (संदीप सोनवलकर) । महाराष्ट्र की उध्दव ठाकरे सरकार इन दिनों मराठा आरक्षण के सवाल …

error: Content is protected !!