Breaking News

स्पूतनिक-वी की 1.5 लाख डोज लेकर रूसी विमान भारत के लिए रवाना …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । भारत में कोविशील्ड और कोवैक्सिन के साथ कोरोना के खिलाफ जंग जारी है। स्पूतनिक-वी की पहली खेप आने के बाद से भारत में टीकाकरण की रफ्तार और तेज हो जाएगी, क्योंकि दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान में एक और वैक्सीन जुड़ जाएगी। रूसी अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है कि आज यानी 1 मई को भारत में स्पूतनिक-वी वैक्सीन की पहली खेप आ जाएगी।

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में भारत को आज एक और हथियार मिलने जा रहा है। रूसी कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-वी की पहली खेप आज भारत आ रही है। रूसी निर्मित स्पुतनिक 5 वैक्सीन की एक खेप मास्को से हैदराबाद के लिए रवाना हो रही है, जिसमें 1,50,000 खुराकों का पहला जत्था शनिवार को आने वाला है, जिसमें शनिवार को 1.5 लाख और इस महीने आने वाली तीस लाख खुराकें शामिल हैं।

मॉस्को और नई दिल्ली स्थित राजनयिकों के अनुसार, निवारक वैक्सीन की 150,000 खुराक ले जाने वाली उड़ान आज सुबह रूस से रवाना हो गई है और भारत आते ही डॉ रेड्डी की प्रयोगशालाओं को सौंप दी जाएगी। टीकाकरण के लिए खुराक सौंपे जाने से पहले, रूसी वैक्सीन के भारतीय साझेदार केंद्रीय ड्रग प्रयोगशाला, कसौली से अनिवार्य अनुमोदन लेंगे।

स्पुतनिक वी मानव एडेनोवायरल वैक्टर पर आधारित है, तीन वैक्सीन में से एक है (अन्य दो फाइजर और मॉडर्ना की बनाई हुई हैं) जिनमें कोरोनोवायरस बीमारी के खिलाफ 90 प्रतिशत से अधिक प्रभावकारिता है, जो एसएआरएस-सीओवी -2 के कारण होती है। इसे 12 अप्रैल को भारत में विनियामक अनुमोदन या आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी गई थी।

Check Also

वैक्सीनेशन को लेकर को-विन पर बड़ा बदलाव, अब मिलेगा चार डिजिट का सिक्योरिटी कोड …

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए देश में तेजी से वैक्सीनेशन अभियान चल …

error: Content is protected !!
Secured By miniOrange