Breaking News

स्मार्ट सिटी एडवायजरी फोरम का पुनर्गठन, सांसद अरुण साव, शैलेश पांडे, धरमलाल कौशिक सहित 24 सदस्य हुए शामिल

बिलासपुर। स्मार्ट सिटी के लिए सरकार ने एडवायजरी फोरम का पुनर्गठन किया है। इसमें सांसद अरुण साव, शैलेश पांडेय, धरमलाल कौशिक, रश्मि सिंह, रजनीश सिंह, रामशरण यादव सहित शासकीय अधिकारियों को मिलाकर 24 सदस्य बनाए गए हैँ। स्मार्ट सिटी लिमिटेड के सीईओ इस समिति के संयोजक होंगे।

बिलासपुर को स्मार्ट सिटी बनाए जाने का काम केंद्र और राज्य सराकर की ओर से किया जा रहा है। शहर के लोगों को काम दिख नहीं रहा है। डोर-टू-डोर कचरा उठ रहा है लेकिन हर गली-मोहल्लों में कचरा फैला हुआ देखा जा सकता है। सरकारी काम है, इसलिए इसका असर शायद कुछ साल बाद दिखाई दे। सरकार ने बिलासपुर स्मार्ट सिटी को और बेहतर बनाने के लिए एडवायजरी फोरम का पुनर्गठन किया है। इस नई समिति में बिलासपुर के सांसद अरुण साव, बिलासपुर के विधायक शैलेश पांडे, तखतपुर की विधायक श्रीमती रश्मि सिंह, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, बिल्हा विधायक धरमलाल कौशिक, महापौरा रामशरण यादव जनप्रतिनिधि के रूप में शामिल हुए।

सरकारी अफसरों में संभागीय कमिश्नर संजय अलंग, आईजी दीपांशु काबरा, कलेक्टर सारांश मित्तर, एसपी प्रशांत अग्रवाल, आरटीओ प्रेमप्रकाश शर्मा, नगर निगम कमिश्नर प्रभाकर पांडे, पीडब्ल्यूडी के पीएन साय, जलसंसाधन के अजय सोमावार, पीएचई के आरपी गेंदले, सीएसईबी के भीम सिंह कंवर, इंजीनियरिंग कालेज के प्राचार्य बलवीर चावला सहित सरकार की ओर से नामित सदस्यों में हरिश केडिया, बेनी गुप्ता, सुधीर शुक्ला, मनोज शुक्ला, श्याम शुक्ला, अटल श्रीवास्तव व नरेंद्र बोलर शामिल हैं।

error: Content is protected !!