Breaking News

छत्तीसगढ़ में हो रहा वैक्सीनेशन का असर, अब बुजुर्ग कम आ रहे हैं कोरोना पॉजिटिव …

रायगढ़। 45 साल के ऊपर करीब 94 परसेंट वैक्सीनेशन जिले में कर लिया गया है। इसका असर अब वर्तमान में देखने को मिल रहा है, जिले में पिछले 13 दिनों में 2932 कोरोना वायरस पॉजिटिव आए हैं जिसमें से 60 साल से ऊपर के सिर्फ 235 केस ही मिले हैं।

जिले के जनपद पंचायत सीईओ को ग्राम सचिव और सरपंच के माध्यम से 45 साल से ऊपर सभी लोगों को कोरोना वैक्सीनेशन कराने के निर्देश दिए गए हैं। लक्ष्य के अनुरूप जिले में हर रोज कोविड-19 वैक्सीनेशन हो रहा है। वर्तमान में जिले में 45 वर्ष से ऊपर आयु वाले का करीब 94 प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण हो चुका है। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने वैक्सीनेशन कारगर साबित हो रहा है। पिछले 1 अप्रैल से 13 अप्रैल तक 2932 नए कोरोना पॉजिटिव जिले में मिले हैं। इसमें से 60 साल से ऊपर के सिर्फ 235 केस सामने आए हैं।

वैक्सीनेशन से पूर्व 60 साल से ऊपर लोगो को ज्यादा संक्रमण हो रहा था, लेकिन वैक्सीनेशन के बाद उम्रदराज लोगों पर संक्रमण कम होने की बातें सामने आई है। इसमें 1 से 15 वर्ष आयु वालों में 260 पॉजिटिव, 16 से 30 वर्ष आयु वालों में 911 पॉजिटिव, 21 से 50 वर्ष आयु वालों में सबसे ज्यादा 1197 पॉजिटिव, 51 से 60 वर्ष वालों में 329 पॉजिटिव मिले हैं। इसमें देखने वाली बात यह है कि 45 साल के ऊपर वालों को वैक्सीन लग चुका है, जबकि 1 से 30 वर्ष और 30 से 45 वर्ष के नीचे के लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगा है। हर रोज मिल रही जांच रिपोर्ट के आधार पर 31 से 44 वर्ष उम्र और 16 से 31 वर्ष उम्र वालों का ही ज्यादा संख्या में कोरोना पॉजिटिव आने की बातें सामने आ रही है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एस.एन.केशरी ने बताया कि वैक्सीनेशन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। उन्होंने कहा कि कोरोना टीके का दोनों डोज लेने के बाद शरीर में करीब 81 प्रतिशत तक रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है यह रिसर्च में सामने आया है। जिले में अब तक 45 वर्ष उम्र से अधिक लगभग 94 प्रतिशत लोगों को कोरोना टीका लग चुका है। वर्तमान में जो परिणाम आ रहे हैं उसमें 50 से 60 वर्ष और 60 वर्ष से ऊपर कोरोना पॉजिटिव की संख्या बहुत कम है। इसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि वैक्सीनेशन के कारण ही जिले में वर्तमान में उम्रदराज लोगों की कोरोना पॉजिटिव संख्या कम हुई है।

पिछले 24 घंटे में रायगढ़ जिले में 388 पॉजिटिव केस मिले हैं। जिनमें 0 से 15 वर्ष आयु वर्ग में 27 पॉजिटिव, 16 से 30 वर्ष आयु वर्ग में 127 पॉजिटिव, 30 से 50 वर्ष आयु वर्ग में 158 पॉजिटिव, 51 से 60 वर्ष आयु वर्ग में 41 और 60 से ऊपर आयु वर्ग में मात्र 36 ही पॉजिटिव केस सामने आए हैं।

वर्तमान में कोरोना के और भयावह होने की अंदेशा मिल रहे हैं। दूसरे जिलों में मरीजों के इलाज के लिए ऑक्सीजनेटेड व आईसीयू बेड नहीं होने की बातें सामने आ रही है। वर्तमान में जिले में ऑक्सिजनेटेड और आईसीयू बेड पर्याप्त है। हर रोज लिए जा रहे हैं जिले के आंकड़ों के हिसाब से 16 से 30 और 30 से 50 वर्ष आयु वालों का पॉजिटिव रिपोर्ट ज्यादा आ रहा है, जबकि 50 से 60 और 60 वर्ष से ऊपर आयु वालों का रिपोर्ट की पॉजिटिव संख्या बहुत कम है। इसलिए 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले सभी लोगों को कोरोना का पहला और दूसरा दोनों डोज लगाने की आवश्यकता है। वैक्सीनेशन ही कोरोना जैसे महामारी से बचाव किया जा सकता है।

जिला पंचायत सीईओ डॉ.रवि मित्तल खुद भी एक एमबीबीएस डॉक्टर हैं। डॉ.रवि मित्तल ने बताया कि जिले में 45 प्लस आयु वर्ग के लोगों का 94 प्रतिशत से ज्यादा वैक्सीनेशन हो चुका है, जिन्हें टीके का पहला डोज लगा है, उन्हें 6 हफ्ते बाद दूसरा डोज भी लगवाना होगा। इससे ही उनके शरीर में 81 प्रतिशत तक रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि टीका लगाने के बाद भी मास्क लगाने, फिजिकल डिस्टेंसिंग और हाथों को सैनिटाइज करने के साथ भीड़-भाड़ वाले जगहों में जाने से बचने जैसे एहतियात बरतने की जरूरत है।

Check Also

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की बड़ी घोषणा : पत्रकारों, वकीलों तथा उनके परिजनों को भी फ्रंट लाईन वर्कर के समान टीकाकरण में मिलेगी प्राथमिकता …

रायपुर (गुणनिधि मिश्रा) । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण …

error: Content is protected !!