मध्य प्रदेश

बिशप ने चर्च की ढाई करोड़ की जमीन आधी कीमत में खरीदी, करोड़ों की एफडीआई भी मिलीं …

जबलपुर। द बोर्ड ऑफ एजुकेशन चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया जबलपुर डायोसिस के चेयरमैन बिशप पीसी सिंह से ईओडब्ल्यू द्वारा की जा रही पूछताछ में नए-नए मामले उजागर हो रहे हैं। पूछताछ में पता चला है कि नेपियर टाउन में चर्च की पांच हजार सात सौ वर्गफीट जमीन बिशप होने के नाते खुद बेची और खुद ही खरीद ली। कलेक्टर गाइडलाइन के अनुसार इस जमीन की कीमत ढाई करोड़ है, लेकिन उसने एक करोड़ 20 लाख में खरीद ली। इस जमीन पर उसका आलीशान बंगला बन रहा है।

ईओडब्ल्यू ने बताया कि बिशप पीसी सिंह से सोमवार देर रात तक पूछताछ जारी रही। मंगलवार सुबह से फिर पूछताछ की गई। उससे कई बिंदुओं पर पूछताछ की जा रही। उसके द्वारा चर्च की जमीन खरीदने का पता चला है। उसने करोड़ों रुपयों की एफडी बनवाईं हैं। एफडी कब बनीं और उनमें नामिनी कौन है, इस पर पूछताछ चल रही है। फर्जीवाड़ा में कौन-कौन शामिल हैं। इन सभी बातों का पता लगाया जा रहा है। वहीं, आयकर विभाग की टीम भी उसकी संपत्ति, नकदी व जेवरातों के स्त्रोतों का पता कर रही है। बिशप इस समय चार दिन की ईओडब्ल्यू की रिमांड पर है।

थाने में गुजरी रात

सूत्रों के अनुसार बिशप ईओडब्ल्यू की पूछताछ में जानकारी देने में आनाकानी कर रहा है। पूछताछ के बाद रात में उसे गोरखपुर थाने में रखा गया, जहां थाने के लाकअप में बिशप ने रात गुजारी। बताया जा रहा है कि बिशप से पूछताछ के दौरान वकील भी मौजूद रहते हैं।

छेड़छाड़ का मामला भी

बिशप के खिलाफ पूर्व में महिला थाना में छेड़छाड़ का प्रकरण दर्ज हो चुका है। पता चला है कि बिशप के खिलाफ एक स्कूल की शिक्षिका की शिकायत पर न्यायालय के आदेश से वर्ष 2012 में महिला थाना में छेड़छाड़ का प्रकरण दर्ज किया गया था। बाद में इस मामले का खात्मा किया गया।

सोलंकी से भी पूछताछ संभव

ईओडब्ल्यू ने बिशप पीसी सिंह के साथ तत्कालीन असिस्टेंट रजिस्ट्रार फर्म एंड संस्था बीएस सोलंकी के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज किया है। ईओडब्ल्यू की टीम जल्द ही सोलंकी को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर सकती है।

यह है पूरा मामला

बिशप पीसी सिंह के घर में ईओडब्ल्यू की टीम ने आठ सितंबर को छापा मारा था। वहां से एक करोड़ 65 लाख 14 हजार रुपये नकद, 118 पाउंड, 18 हजार 352 यूएस डालर, 80 लाख 72 हजार रुपये के सोने के जेवरात, 17 संपत्तियों के दस्तावेज और 48 बैंक खातों के संबंधित दस्तावेज जब्त किए थे। 11 सितंबर को जर्मनी से लौटने पर बिशप को नागपुर एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था। जांच के दौरान बिशप के पास करीब दो करोड़ तीन लाख रुपये के 10 एफडीआर मिले हैं। बिशप के 174 बैंक खातों का भी पता चला है, जिसमें से 128 अकेले उसके स्वयं के हैं।

Related Articles

Back to top button