Breaking News

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा- दो साल में ही दस साल पीछे चला गया है प्रदेश …

बिलासपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश के सरकार के दो साल का कार्यकाल पूर्ण होने पर कहा कि सत्ता के आनंद का दो बरस बीत गया है। इन दो वर्षों में वादों के मुताबिक प्रदेश की सरकार ने कुछ भी नही किया है।  इस सरकार से जनता का भरोसा पूरी तरह उठा चुका है। यह सरकार केवल पीआर एजेन्सियों के सहारे चल रही है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के नेतृत्व में विकास के जो आयाम हमनें स्थापित किया था, वह सबके लिये अनुकरणीय था। पूरे प्रदेश के समग्र विकास के लिये हमारे पास योजनायें थी। अन्नपूर्णा योजना, स्मार्ट कार्ड योजना, तेन्दुपत्ता संग्राहक बीमा योजना, तीर्थ यात्रा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, श्रमिक कन्या विवाह योजना, श्रमिक सामग्री वितरण योजना सहित कई योजना संचालित थी लेकिन केवल कागजी दावों और  वादों के सत्ता में कांग्रेस की सरकार ने कई योजनाओं को बंद कर दिया है।

उन्होंने कहा कि इस सरकार ने हर वर्ग को छलने अलाव कुछ भी नही किया है। पूरे  प्रदेश में त्राहीमाम की स्थिति है किसान लगातार आत्महत्या करने को विवश है और प्रदेश की सरकार उत्सव के आनंद में व्यस्त और मस्त है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने सवाल करते हुए कहा कि विद्यामितानिनों,अतिथि शिक्षक, कौशल उन्नयन योजना, सरस्वती सायकल योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान  योजना,पम्प हेतु विद्युत कनेक्शन, युनिवर्सल हेल्थ  स्कीम, चिकित्सकों की  भर्ती सहित ऐसे कई योजनाओं का क्या हुआ?

उन्होंने कहा कि माफिया हर जगह सक्रिय हैं।शराब, जमीन,  रेत हर जगह उनका कब्जा है। नक्सलवाद पर अंकुश लगाने में भी सरकार नाकाम है। ऐसा लगने लगा है कि प्रदेश की सरकार ने नक्सलियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने चुनाव के समय में जनता से जो वादा किया  था उसे भी वो पूरा करने  में नाकाम है। अब तक धान का चौथा किस्त भी किसान को नहीं मिला है। दो साल बाद भी वादे के मुताबिक बोनस नही दिया गया है। पूर्ण शराबबंदी को लेकर अब तक कोई कारगर कदम उठाया ही नहीं गया है।

युवाओं को न रोजगार मिला है ना ही बेरोगजारी भत्ता का पता है। महिला समूहों का ऋण भी माफ नही किया गया है। छात्रों को सायकल भी प्रदाय नही किया गया है।निःशुल्क परिवहन,फुड पार्क,रोजगार आयोग का गठन,शहरी गरीब आवास योजना,भूमिहीनों को भूमि व संपत्तिकर आधा, ओबीसी व सामान्य वर्ग के छात्रों के लिये छात्रावास, मुफ्त सिलेण्डर की योजना, एक लाख शासकीय नौकरी सहित सिंचाई सुविधा की बेहतरी, नियमितीकरण जैसे कई मुद्दे है जिन्हें प्रदेश की सरकार पूरा करने में असफल रही है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि नेशलन क्राईम रिर्पोट ब्यूरो के मुताबिक 2019 में आत्महत्या के मामले में,महिला अनाचार के मामले में व बच्चों के अपहरण के मामलें छत्तीसगढ़ का स्थान चौथा है। महिलाओं के अपहरण की घटनाओं के मामले चौथे स्थान पर, दुर्घटनाओं के मामले में दूसरे स्थान पर है। साथ  ही वित्तीय कुप्रबंधन के  कारण प्रदेश कर्ज में डूबता जा रहा है फिर भी प्रदेश की सरकार दावा कर रही है कि नवा छत्तीसगढ़ गढ रहे हैं।इन सबके बीच आखिकार क्या यही नवा छत्तीसगढ़ है जहां प्रगति एक तरह से थम गई है।

Check Also

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की बड़ी घोषणा : पत्रकारों, वकीलों तथा उनके परिजनों को भी फ्रंट लाईन वर्कर के समान टीकाकरण में मिलेगी प्राथमिकता …

रायपुर (गुणनिधि मिश्रा) । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण …

error: Content is protected !!