राफेल फाइटर जेट की उडान से हरदा के नवीन उपाध्याय का कनेक्शन जानिए क्या है पूरा मामला

हरदा (अनिल मल्हारे) । हरदा भारत और फ्रांस के बीच साल 2016 में हुए 36 राफेल फाइटर जेट के करार के बाद 5 लड़ाकू विमान अब बुधवार को भारत की जमीन पर उतरने वाले हैं। फ्रांस से 7 हजार किलोमीटर का सफर तय कर 5 राफेल फाइटर जेट 29 जुलाई को भारत (India) पहुंच रहे हैं। पूरे देश को उस पल का इंतज़ार है जब ये लड़ाकू विमान देश की धरती पर उतरेंगे और भारतीय वायु सेना के बेड़े में शामिल होंगे इन फाइटर जेट्स को अंबाला एयरबेस में रखने की तैयारी है। राफेल के स्वागत के लिए अभी से अंबाला एयरबेस को तैयार किया जा रहा है लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि राफेल की इस उड़ान से मध्य प्रदेश के हरदा का नाम भी जुड़ा हुआ है। नवीन उपाध्याय ने बताया कि राफेल विमानों ने जब भारत के लिए फ्रांस से उड़ान भरी तो उस वक्त हरदा के नमन उपाध्याय भी एयरबेस पर मौजूद रहे नमन भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी हैं और इस वक्त फ्रांस स्थित भारतीय दूतावास में सेकेंड सेक्रेट्री के पद पर तैनात हैं।

हरदा जिला के लिए एक फिर बार फिर गौरव का पल आया है लड़ाकू विमान राफेल के फ़्रांस से भारत रवाना होने के गौरवमयी पल के गवाह बने हरदा के नमन उपाध्याय यहां के उपाध्याय परिवार के बेटे नमन उपाध्याय भारतीय विदेश सेवा (IFS) के 2016 के अधिकारी हैं।वर्तमान में वो फ़्रांस के भारतीय दूतावास में सेकेंड सेकेट्री के पद पर तैनात हैं। नमन 2019 में राफेल सौंपने के वक्त भी मौजूद थे जब भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह फ़्रांस गए थे नमन फ्रांस में हैं नमन आईएफएस अधिकारी के रूप में देशसेवा कर रहे हैं जब 5 राफेल विमानों ने फ़्रांस से भारतीय एयरबेस के लिए उड़ान भरी उस वक्त नमन भी तस्वीरो में दिखाई दिए राफेल विमान को लेकर आ रहे गोल्डन रोज कमांडिंग ऑफिसर पायलट के साथ फ़्रांस के एयरबेस पर ली गयी तस्वीरों में नमन मौजूद हैं।

हरदा निवासी नवीन उपाध्याय से मिली जानकारी के अनुसार नमन उपाध्याय ने 2016 की UPSC परीक्षा में 106 रैंक हासिल की थी भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी नमन दिवंगत शिक्षक बृजमोहन उपाध्याय के पोते हैं। बृजमोहन उपाध्याय को पूरा शहर ‘लल्लू सर’ के नाम से जानता है। नमन के पिता नर्मदा प्रसाद उपाध्याय प्रदेश वाणिज्य कर विभाग में डायरेक्टर रह चुके हैं। 35 सदस्यों के इस परिवार में अधिकांश सदस्य प्रशासनिक सेवा के बड़े पदों पर पदस्थ हैं।

राफेल डील साल 2016 में भारत और फ्रांस के बीच हुए 36 राफेल फाइटर जेट के करार के बाद 5 राफेल अब बुधवार को भारत की जमीन पर उतरने वाले हैं। 10 एयरक्राफ्ट तयशुदा समय के हिसाब से तैयार हैं, जिनमें से 5 एयरक्राफ्ट को ट्रेनिंग के लिए फ्रांस में ही रखा गया है, जबकि 5 राफेल को भारत भेजा जा रहा है। भारत पहुंच रहे इन 5 विमानों में दो ट्रेनर एयरक्राफ्ट हैं और तीन लड़ाकू विमान हैं. 2021 के अंत तक सभी 36 राफेल की डिलीवरी हो जाएगी।