देश

अमरावती हत्याकांडः हत्या में शामिल था करीबी दोस्त, अंतिम संस्कार में भी पहुंचा था ….

मुंबई। महाराष्ट्र के अमरावती में केमिस्ट की हत्या के करीब 10 दिन बीत चुके हैं। भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट साझा करने के बाद उमेश कोल्हे की हत्या हो गई थी। इस केस को भी उदयपुर हत्याकांड के जैसा ही बताया जा रहा है। दोनों ही केसों की जांच एनआईए कर रही है। मृतक उमेश कोल्हे के भाई महेश कोल्हे ने केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि दोषियों को बड़ी से बड़ी सजा मिलनी चाहिए।

इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। महेश कोल्हे ने आरोपी युसुफ खान को लेकर बड़ी बात बताई है। उनका कहना है कि युसुफ साल 2006 से ही उनके भाई का ‘अच्छा दोस्त’ था। वह कोल्हे के अंतिम संस्कार में भी पहुंचा था। महेश ने कहा कि मामले का मास्टरमाइंड गिरफ्तार हो चुका है इसलिए कहा जा सकता है कि जांच आगे बढ़ेगी। अन्य जो लोग इसमें शामिल थे उन्हें भी जल्द गिरफ्तार किया जा सकता है।

बताया जा रहा है कि युसुफ खान ने ही उमेश कोल्हे की सोशल मीडिया पोस्ट को वॉट्सऐप ग्रुप में शेयर किया था। उसी ग्रुप में आरोपी इरफान शेख भी था। बता दें कि 21 जून की रात 54 वर्षीय उमेश कोल्हे अपने मेडिकल स्टोर से स्कूटर से घर लौट रहे थे। रास्ते में एक बाइक पर सवार तीन लोगों ने उन्हें रोक लिया और हत्या कर दी। उनके बेटे और पत्नी भी साथ में ही दूसरी बाइक पर थे लेकिन वे उन्हें बचा नहीं पाए।

इस मामले में सात लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है जिसमें मुदस्सिर अहमद, शाहरुख पठान, अब्दुल तौफीक शेख, शोएब खान और अतीक राशिद शामिल हैं। बाकी आरोपियों की भी तलाश की जा रही है। रविवार को अमारवती में पुलिस अधिकारियों की हाई लेवल मीटिंग बुलाई गई। इस बैठक में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की गई।

Related Articles

Back to top button