छत्तीसगढ़

आंगनबाड़ी केन्द्र रानीबोदली में सुपोषण बाड़ी से मिल रही है हरी सब्जियाँ, पोषणबाडी से सुपोषित हुआ नौनिहाल ….

बीजापुर ।आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका के द्वारा जमीन का हल्का खोदाई कर लाल भाजी एवं पालक भाजी के बीज का रोपण किया गया। लगभग 4 से 5 माह की कड़ी मेहनत के बाद पोषण बाडी में लाल भाजी एवं पालक भाजी की हरी सब्जियॉ पोषण बाड़ी में लहराती हुई दिखी।

जिला परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास लुपेन्द्र महिनाग के मार्गदर्शन मे  एकीकृत बाल विकास परियोजना कुटरू, सेक्टर कुटरू के आंगनबाडी केन्द्र रानीबोदली जो कि रानीबोदली पंचायत में है। रानीबोदली आंगनबाड़ी केन्द्र का पोषण बाडी जनवरी 2022 में पंचायत की ओर से सरपंच विच्चम गोटा द्वारा फेंसिंगतार की बाडी तैयार कराया गया।

इस हरी सब्जियों को गरम भोजन के साथ बनाकर परोसा जाता है। जिससे केन्द्र के बच्चें को कुपोषण में शतप्रतिशत सुधार हुआ है। अभी वर्तमान में केन्द्र में 0 से 6 वर्ष के कुल 40 बच्चे दर्ज है। और सभी बच्चे वर्तमान में सुपोषित है केन्द्र में अभी मध्यम एवं गंभीर कुपोषित बच्चे की संख्या शुन्य है। पोषण बाड़ी का क्षेत्र बड़ा है और यहॉ सब्जी भाजी काफी मात्रा में उत्पादित होने के कारण कार्यकर्ता श्रीमती अनिता गोटा और सहायिका पुष्पा अंगनपल्ली के पति के द्वारा लगभग तीन सौ रूपये का सब्जी व्रिकय भी किया गया।

इस कार्य से कार्यकर्ताए सहायिका और वार्ड पंच श्रीमती तुरजाबाई तोडसम, वार्ड पंच अरविंद गोटा जो कि पोषणबाडी निर्माण में अपना सहयोग दिया है। पोषणबाडी के देखरेख एवं निर्माण के लिए सहायिका और कार्यकर्ता के अथक प्रयास ही सफल हुआ है।

सेक्टर पर्यवेक्षक श्रीमती प्रियंका भारद्वाज द्वारा कार्यकर्ता को समाझाईस दी गई है कि पोषणबाडी से उत्पादित सब्जी भाजी का प्रतिदिन गरम भोजन के साथ हरी साग भाजी की सब्जी आहार के रूप में देना शुरू करे, ताकि केन्द्र में दर्ज सभी बच्चे लाभांवित हो जायेए और कुपोषण से निजात पाकर सुपोषित हो सके।

Related Articles

Back to top button