लेखक की कलम से

दिल दुखता है ऐसी फ़ोटो से …

क्यों नहीं और देश रूस का विरोध

कर रहें हैं,

इस युद्ध से तीसरे विश्व युद्ध की आशंका भी दिखती है और इतिहास गवाह है जब जब वर्ड वार हुए है तो सारे विश्व का ही नाश हुआ है, और कई कई देशों का तो अस्तित्व ही खत्म हुआ है, और हर देश ही 100 सालों पीछे चले गए।

भारत भी रूस का मित्र देश है पर इस समय भारत को भी रूस का विरोध करना चाहिए, यूक्रेन ने अपनी सुविधाएं ही बढ़ाई है, अगर वो अपनी रक्षा प्रणाली बढ़ता तो आज रूस उसपे अटैक नहीं करता, और युद्ध करने से पहले 100 बार सोचता ?

पर यूक्रेन ने अपनी सुविधाएं अपने देश के लोगों को आराम तलब बनाया, पर कभी इस युद्ध जैसी आशंका को अनदेखा करके अपने देश को और अपने देश को घोर संकट में डाल दिया।

युद्ध कोई विकल्प नहीं है, यहां पे मुझे यूएसए और इजराइल सही लगा जो यूक्रेन का साथ दे रहा है, भारत के भी बहुत सारे बच्चे यूक्रेन में हाई स्ट्डीज के लिए यूक्रेन में है तो मैं सभी बच्चों और वांग के लोगों की सुरक्षा के लिए ईश्वर से प्रार्थना करती हूं।

भारत को रूस से बात करनी चाहिए कि युद्ध से कोई हल नहीं निकल सकता और आप आपसी सहमति से रास्ता निकालिए, क्योंकि युद्ध में जन धन का बहुत बड़ा नुकसान होगा और सब कुछ तबाह हो जाता है। काश कि रूस ये युद्ध बंद कर दे क्योंकि कुछ देशों ने उसका सब कुछ बंद कर दिया और जो कि रूस के लिए सही भी नहीं है !!

 

 

 

Related Articles

Back to top button