देश

OTP बताने से पहले बच्चे कार में जा बैठे, कैब ड्राइवर ने बच्चों के पिता को उतारा मौत के घाट ….

चेन्नई। एक शख्स अपने परिवार के साथ वीकेंड बिताने फिल्म देखने गया था। वापस आते वक्त उसने कैब बुक की। तय समय के मुताबिक, कैब भी मौके पर आ गई। लेकिन इससे पहले वो ड्राइवर को ओटीपी बता पाता। उसके बच्चे कैब के अंदर सवार हो गए। मामूली सी बात पर ड्राइवर गुस्से में आ गया और उसने शख्स के साथ मारपीट शुरू कर दी। पहले चेहरे पर मुक्का मारकर नाक से खून निकाल दिया और फिर अपना फोन सिर पर दे मारा। अस्पताल ले जाते वक्त ही उस शख्स ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने आरोपी कैब ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, मामला तमिलनाडु के चेन्नई शहर के बाहरी इलाके का है। कोयंबटूर की एक निजी फर्म के इंजीनियर एच उमेंदर अपनी पत्नी और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ वीकेंड बिताने के लिए चेन्नई में थे। रविवार को दोपहर करीब साढ़े तीन बजे फिल्म देखने के बाद नवलूर के एक मॉल से बाहर आने के बाद उन्होंने कैब बुक की थी। कैब पहुंची तो सात लोगों का पूरा परिवार गाड़ी में सवार होने लगा। इस 41 वर्षीय कैब ड्राइवर एन रवि ने आपत्ति जताई और कहा कि उसे इतने बड़े परिवार के लिए बड़ी गाड़ी बुक करनी थी। इतना ही नहीं इस बीच बच्चे कार के अंदर सवार हो गए।

जानकारी के अनुसार, कैब ड्राइवर रवि गुस्से में आ गया। उसने बच्चों को डांटा और कार से निकलने के लिए कहा। इस बात पर उमेंदर और रवि के बीच झगड़ा शुरू हो गया। साथ ही रवि ने कहा कि बिना ओटीपी बताए उसके परिवार के लोग कार के अंदर नहीं घुस सकते।

कुछ ही देर में विवाद हाथापाई में उतर गया। इस बीच गुस्से में आकर रवि ने अपने फोन को उपेंदर के सिर पर दे मारा। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि यही नहीं कैब ड्राइवर रवि ने उपेंदर के मुंह पर मुक्का भी मारा। जिससे उपेंदर की नाक से खून बहने लगा। आनन-फानन में उपेंदर को उसके परिवार वाले एक निजी अस्पताल लेकर आए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जबकि लोगों ने कैब ड्राइवर को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी पर हत्या के मामले में केस दर्ज किया गया है।

Related Articles

Back to top button