Breaking News
File Photo

सीएम योगी बोले- किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर देश के खिलाफ षड्यंत्र बर्दाश्त नहीं करेंगे …

नई दिल्ली। कृषि सुधार कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर चल रहे किसान आंदोलन के बीच उत्‍तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने विपक्ष पर बड़ा हमला बोला है। कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्‍यास करने मेरठ पहुंचे सीएम ने कहा कि कुछ लोग किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर देश की एकता और अखंडता को चुनौती दे रहे हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।  मालूम हो कि किसान मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि विरोधी बिल के खिलाफ सड़क पर हैं। किसानों को विभिन्न राजनैतिक संगठनों के साथ ही जनसमुदाय का भी समर्थन मिल रहा है। ऐसे में उत्तरप्रदेश के सीएम ने बयान जारी कर राजनीति में गर्माहट ला दी है।

देश के खिलाफ किसी षड्यंत्र को सफल नहीं होने दिया जाएगा। अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए सीएम योगी ने विभिन्‍न क्षेत्रों में सरकार द्वारा किए जा रहे कामों का विस्‍तार से उल्‍लेख किया। उन्‍होंने कहा कि पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के विकास में किसी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। कानून व्‍यवस्‍था को सरकार की सर्वोच्‍च प्राथमिकता बताते हुए सीएम ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में हर हाल में बहन-बेटियों की सुरक्षा की जाएगी। सीएम ने मेरठ में कुल 88 परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्‍यास किया। इस मौके पर उन्‍होंने मेरठ के परतापुर और मलियाना द्वितीय बिजली घरों का लोकार्पण भी किया। किठौर के शाहजहांपुर बिजलीघर का शिलान्यास भी सीएम के हाथों हुआ।

सीएम रविवार दोपहर करीब सवा एक बजे मेरठ के सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे। उन्‍होंने नवनिर्मित केंद्रीय पुस्तकालय के भवन का भी उद्घाटन किया। यहीं पर कई कृषि योजनाओं को शुरू करने के साथ ही कई विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण सीएम ने किया। इसके बाद किसानों, छात्रों और शिक्षकों की जनसभा को भी संबोधित करते सीएम ने कहा कि किसानों को इस्‍तेमाल कर अपना हित साधने की कोशिशों को देश समझ रहा है। इन साजिशों को बेनकाब करते हुए असफल बनाया जाएगा।

किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर भारत की एकता और अखंडता को चुनौती दी जा रही है। किसान भाईयों के कंधों पर बंदूक रखकर देश की सुरक्षा में सेंध लगाने का कार्य किया जा रहा है।

पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के दौरे पर निकले सीएम योगी आदित्‍यनाथ को तय कार्यक्रम के अनुसार 11 बजे कृषि विश्वविद्यालय में पहुंचना था, लेकिन खराब मौसम के चलते उनका हेलीकाप्‍टर उतर नहीं सका। उन्‍हें वापस गाजियाबाद जाना पड़ा। वहां से हापुड़ होते हुए सड़क मार्ग से सीएम करीब सवा एक बजे मेरठ के कृषि विवि पहुंचे।

इसके पहले 10 दिसंबर को सीएम का विमान लखनऊ में नहीं उतर पाया था। उन्‍हें बीच रास्‍ते से वापस गोरखपुर लौटना पड़ा था। मिली जानकारी के अनुसार घने कोहरे के कारण विजिबिलिटी काफी कम हो गई। इस वजह से सीएम के विमान को लैंड कराने की बजाए वापस गोरखपुर ले जाने का निर्णय लिया गया था।

Check Also

बीजेपी ने दिया गौशालाओं में ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर लगाने का आदेश, हर जिले में बनेगी हेल्प डेस्क …

लखनऊ । कोविड-19 महामारी के कारण उपजे विषम हालात के बीच उत्तर प्रदेश की योगी …

error: Content is protected !!
Secured By miniOrange