Breaking News

ममता को लेकर दिए ‘बरमूडा’ वाले बयान पर बीजेपी नेता ने दी सफाई, बोले- हमारी संस्कृति में महिलाओं का साड़ी में पैर दिखाना ठीक नहीं …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । पश्चिम बंगाल में 27 मार्च को पहले चरण के लिए वोटिंग होने जा रही है। इससे पहले सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। कल बंगाल बीजेपी के चीफ दिलीफ घोष ने ममता बनर्जी को लेकर विवादित बयान दे दिया था। उन्होंने कहा था कि अगर ममता बनर्जी को पैर ही दिखाने हैं तो बरमूडा पहने लें। हालांकि उन्होंने आज अपने बयान पर सफाई दी है।

दिलीप घोष ने कहा है, ‘वह (ममता बनर्जी) हमारी मुख्यमंत्री, दीदी हैं। हम उनसे अपेक्षा करते हैं कि वे बंगाल की संस्कृति के अनुरूप उचित कार्य करेंगी। महिलाओं का साड़ी में पैर दिखाने अनुचित है। लोग आपत्ति कर रहे हैं। मुझे यह आपत्तिजनक लगा तो मैंने यह बात कही।’

क्या कहा था दिलीप घोष ने? दिलीप घोष ने बुधवार को एक रैली में कहा है कि अगर ममता बनर्जी अपना पैर दिखाना चाहती हैं तो फिर वे साड़ी की बजाय बरमूडा पहन सकती हैं। घोष के इस बयान के बाद कई टीएमसी नेताओं ने निशाना साधा। वे रैली में कहते हैं, ”लोग उनका चेहरा नहीं देखना चाहते हैं, इसीलिए वह अपना टूटा हुआ पैर दिखा रही हैं। उन्होंने साड़ी पहन रखी है, जिसकी वजह से उनका एक पैर कवर है, जबकि दूसरा दिख रहा है। कभी किसी को इस तरह साड़ी पहने नहीं देखा। अगर आप अपना पैर दिखाना चाहती हैं तो फिर बरमूडा पहन लें।”

महिलाओं के पहनावे पर भाजपा के तीरथ सिंह ने भी दिया था विवादित बयान: हाल ही में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बने तीरथ सिंह रावत भी अपने एक पुराने बयान को लेकर सुर्खियों में थे। उन्होंने लड़कियों को फटी जींस नहीं पहने की नसीहत दी थी। उनका मानना था कि फटी जिंस पहनना भारतीय संस्कृति के खिलाफ है। हालांकि बाद में इस मामले पर विवाद बढ़ता देख उन्होंने अपने बयान पर खेद जताया था।

Check Also

वैक्सीनेशन को लेकर को-विन पर बड़ा बदलाव, अब मिलेगा चार डिजिट का सिक्योरिटी कोड …

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए देश में तेजी से वैक्सीनेशन अभियान चल …

error: Content is protected !!
Secured By miniOrange