Breaking News

मंत्री जयसिंग अग्रवाल ने दे दी मरवाही क्षेत्र को करोड़ों की सौगात, अब संगठन की नब्ज को भी टटोल रहे हैं …

मरवाही। जयसिंह अग्रवाल सत्ता और संगठन दोनों ओर से मरवाही उपचुनाव का कमान संभाले हुए हैं और मरवाही के इस अभेद किले को भेदने में लग गए हैं। वे मरवाही क्षेत्र का लगातार दौरा कर क्षेत्र को करोड़ों का सौगात भी दे रहे हैं।

कल मरवाही के दानीकुंडी में वन विभाग के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में जयसिंह अग्रवाल एवम वन विभाग के संसदीय सचिव शिशुपाल सोरी ने भाग लिया। इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए शिशुपाल सोरी ने कहा कि मरवाही व बस्तर की तासीर एक है।यह भी बस्तर की तरह ही  प्रचुर मात्रा में वनोपज मिलता है। अब इसे संवर्धन की जरूरत है।अब इन सभी वनोपज का संवर्धन स्वसहायता समूह के माध्यम से करके इसे रोजगार से जोड़ा जा रहा है। मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने अपने उदबोधन में कहा कि पिछले दो महीने में हमने मरवाही क्षेत्र के लिए 100 करोड़ से अधिक के सड़क निर्माण सह पुल की सौगात दी है। इसके साथ ही अन्य विविध विकास कार्यो के लिए भी सैकड़ों करोड़ रुपये के सौगात हमारी सरकार ने क्षेत्र को दी है। मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने मरवाही बाजार के सेड निर्माण के लिए प्रभारी मंत्री मद से 10 लाख की स्वीकृत्ति मंच से दी।इसके साथ ही उन्होंने दानीकुंडी बाजार के व्यस्थितीकरण के लिए वन विभाग की ओर से 2 एकड़ जमीन उपलब्ध कराने के घोषणा की।

प्रभारी मंत्री ने सीसीएफ अनिल सोनी,मरवाही के डीएफओ राकेश मिश्रा व खासकर एसडीओ संजय त्रिपाठी के कार्यो से अधिक प्रभावित हुए और उनकी प्रसंसा के साथ इस आयोजन के लिए उन्हें बधाई भी दी। जयसिंह अग्रवाल ने उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि आने वाले समय मे हमारे मुंख्यमंत्री इस क्षेत्र में घोषित कार्यो के अतिरिक्त 318 करोड़ रुपये के विभिन्न कार्यो का शिलान्यास जल्द ही करेंगे। प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कांग्रेस नेता ज्ञानेंद्र उपाध्याय की मांग पर नेचर केम्प के रख रखाव के लिए 50 लाख रुपये की स्वीकृत्ति की घोषणा की। ज्ञात हो कि प्रभारी मंत्री दोपहर में वन विभाग के नेचर केम्प में रुके थे और यही उनका भोजन भी हुआ। वे इस नेचर केम्प के बनावट व सुंदरता से अधिक प्रभावित हुए और इसके लिए तात्कालिक रेंजर व अभी एसडीओ  संजय त्रिपाठी की जमकर प्रसंसा की।

कार्यक्रम में भाग लेने आए मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने दानीकुंडी में कई करोड़ के कार्यो का लोकार्पण व शिलान्यास किया।उन्होंने सीताफल प्रसंस्करण इकाई, अगरबत्ती निर्माण इकाई, सिलाई एवम वस्त्र निर्माण,लाख प्रानसंस्करन इकाई, लाख चूड़ी निर्माण इकाई, टमाटर प्रसंस्करण इकाई, अरण्य फल आधारित आइसक्रीम उत्पादन इकाई, ढेकी द्वारा जैविक चावल प्रसंस्करण इकाई का लोकार्पण तथा बांस प्रसंस्करण केंद्र, श्रमिक शेड व ईएसआईपी परियोजना से 1 करोड़ से अधिक अन्य विविध कार्यों का शिलान्यास किया।इसके साथ ही उन्होंने विभिन्न हितग्राहियों को वनाधिकार पट्टा, वन समितियों को चेक व चौकीदारों को सायकल का वितरण किये। इस अवसर पर वन विभाग के सीसीएफ अनिल सोनी, मरवाही डीएफओ राकेश मिश्रा, एसडीओ संजय त्रिपाठी, मरवाही एसडीएम रवि सिंह, तहसीलदार घनश्याम कौशिक, शुनिल अग्रवाल व वन विभाग के अधिकारी- कर्मचारी उपस्थित रहे।

इस कार्यक्रम में मंत्री जयसिंह अग्रवाल, वन विकास के संसदीय सचिव शिशुपाल सोरी के अलावा प्रदेश कांग्रेस के महासचिव उत्तम वासुदेव, जीपीएम जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनोज गुप्ता, बिलासपुर कांग्रेस के अध्यक्ष विजय केशरवानी, पूर्व विधायक पहलवान सिंह, महिला कांग्रेस नेत्री गजमति भानु, कांग्रेस नेता मोहन लाल शुक्ला, गुलाब राज, प्रमोद परस्ते, राकेस मसीह, ज्ञानेंद्र उपाध्याय, डॉ नरेंद्र राय, प्रताप सिंह मरावी, अजय राय विशाल उरेती, बेचू अहिरेश, दया वाकरे, अमन शर्मा, शुभम पेन्द्रो, प्रफुल्ल प्रकाश, भोला नायक सहित सैकड़ों कांग्रेस नेता व वन समिति के सदस्यों सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।कार्यक्रम का संचालन कांग्रेस नेता ज्ञानेंद्र उपाध्य ने किया जो कि बड़े लंबे समय बाद एक बार फिर से अपने पुराने लय में दिखे।

error: Content is protected !!