मध्य प्रदेश

बालाघाट में खुलेगा मेडिकल कॉलेज – मुख्यमंत्री शिवराज चौहान

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शिक्षक सही मायनों में राष्ट्र के निर्माता हैं। गुरूजनों से शिक्षा प्राप्त कर बच्चे शिक्षित होते हैं और समाज के सभी क्षेत्रों में देश का नेतृत्व कर रहे है। शिक्षक अपने आप को शासकीय सेवक न समझें, राष्ट्र निर्माता समझ कर अपने दायित्वों का निर्वहन करें और बच्चों को अच्छी शिक्षा दें। मुख्यमंत्री श्री चौहान छत्रपति शिवाजी जैविक कृषि उपज मंडी बालाघाट में गुरूजन सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शिक्षा क्षेत्र के साथ सामाजिक क्षेत्र में अपना उल्लेखनीय योगदान दे रहे व्यक्तियों को पुष्प-गुच्छ, शाल-श्रीफल एवं स्मृति-चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने जिले के 349 करोड़ 44 लाख 38 हजार रुपये की लागत के 17 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले में विधायक गौरीशंकर बिसेन के प्रयासों से प्रति वर्ष शिक्षक दिवस पर किये जा रहे प्रतिभा सम्मान समारोह की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रति वर्ष समारोह कर समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर रहे व्यक्तियों को सम्मानित किया जाना निश्चित रूप से हर्ष का विषय है। आज इस कार्यक्रम से जुड़ कर मैं अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ। उन्होंने कहा कि बालाघाट जिला अनोखा जिला है, जहाँ बेटा-बेटी में कोई भेदभाव नहीं है। जिले में बेटों से अधिक बेटियाँ जन्म लेती है। हमें बालाघाट जिले पर गर्व है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार बच्चों की पढ़ाई के लिए अनकों योजना चला रही है। खास कर निर्धन वर्ग के मेधावी छात्र-छात्राओं को आगे लाने सरकार उनकी उच्च शिक्षा के लिए फीस का इंतजाम भी कर रही है। उन्होंने जिले के लिए मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने सीएम राईज स्कूल पत्रिका का विमोचन भी किया।

मुख्यमंत्री ने बालाघाट में किया सहकार भवन का लोकार्पण

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज बालाघाट के कालीपुतली चौक पर 1 करोड़ 80 लाख की लागत से निर्मित कुशाभाऊ ठाकरे सहकार भवन का लोकार्पण किया। उन्होंने सहकारिता भवन का नाम कुशाभाऊ ठाकरे रखने पर प्रसन्नता जाहिर की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कुशाभाऊ ठाकरे सहकारिता के वट वृक्ष थे। उन्होंने कहा कि सहकारिता की भावना से ही आगे बढ़ते चले, किसान को जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर कृषि के लिए कर्ज जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि  किसानों के हित में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के साथ मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना चल रही है। किसानों को जब भी जरूरत पड़ेगी, तो राज्य सरकार  सहकारिता के माध्यम से कार्य करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, जिले के प्रभारी मंत्री हरदीप सिंह डंग, आयुष (स्वंतत्र प्रभार) और जल संसाधन राज्य मंत्री राम किशोर नानो कावरे, पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष एवं विधायक गौरीशंकर बिसेन, पूर्व विधायक भगत सिंह नेताम सहित विभागीय अधिकारी और किसान उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button