मध्य प्रदेश

ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जयराम रमेश ने किया बड़ा हमला: बोले- मंत्री बनने और बंगला बचाने के लिए सिंधिया गए भाजपा में

भोपाल/उज्जैन। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मीडिया विभाग के प्रमुख जयराम रमेश ने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की बगावत पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को कैबिनेट मंत्री बनना था। साथ ही दिल्ली में सफदरजंग का 27 नंबर बंगला चाहिए था। इसी वजह से उन्होंने कांग्रेस छोड़ी और भाजपा में गए। बाकी बातें बेकार हैं। यह 27 नंबर वहीं बंगला है, जो 3 दशक पहले उनके पिता माधवराव को आवंटित हुआ था, तब ज्योतिरादित्य सिंधिया 13 साल के थे। सिंधिया का बचपन यहीं पर गुजरा। ज्योतिरादित्य को बंगला गुना से लोकसभा चुनाव हारने के बाद छोड़ना पड़ा, लेकिन कैबिनेट मंत्री बनने के बाद उन्हें यह दोबारा मिल गया।

जयराम रमेश ने कहा- एमपी में यात्रा को दबाने की कोशिश हुई

इस दौरान कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने पीएम नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की नीयत और नीतियों के कारण देश टूटने की संभावना बढ़ रही है। राजनीतिक तानाशाही बढ़ रही है। इसके खिलाफ ही राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं। जयराम रमेश भारत जोड़ो यात्रा में पदयात्री के तौर पर शामिल हुए हैं। गुरुवार को उज्जैन में यात्रा के दोपहर पड़ाव नजरपुर पहुंची। इस दौरान जयराम रमेश और मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री तरुण भनोत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान जयराम रमेश ने आरोप लगाया कि मध्यप्रदेश में यात्रा को दबाने की कोशिश की गई है। इंदौर में यात्रा के बैनर हटाए गए। पुलिस अफसरों से बहस हुई। इसके बाद भी यात्रा सफल रही। इंदौर छोड़कर अन्य जिलों में सड़कों की हालत बहुत खराब है।

4 दिसंबर को यात्रा पहुंचेगी राजस्थान

जयराम रमेश ने कहा कि 4 दिसंबर को यात्रा राजस्थान में प्रवेश करेगी। 19 दिसंबर को अलवर में बड़ी आमसभा होगी। 24 दिसंबर को यात्रा दिल्ली पहुंचेगी। वहां 4-5 दिन का विश्राम होगा। यात्रा में चल रहे कंटेनरों का रखरखाव किया जाएगा। उसके बाद भारत जोड़ो यात्रा उत्तरप्रदेश, हरियाणा, पंजाब होते हुए श्रीनगर पहुंचेगी। कोशिश है कि राहुल गांधी 26 जनवरी को श्रीनगर में तिरंगा फहराएं।  गुरुवार को उज्जैन से शुरू हुई यात्रा में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह, पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू, अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष शोभा ओझा भी नजर आए।

राजस्थान में सब ठीक है, यात्रा सफल होगी

जयराम रमेश ने यह भी कहा कि हमसे कई बार पूछा जा रहा है कि यात्रा राजस्थान में जाएगी तो क्या होगा? वहां सचिन पायलेट और अशोक गहलोत एकजुट हैं। राजस्थान में यात्रा सफल होगी। सचिन अभी अहमदाबाद में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। भाजपा भ्रम फैलाती है। पूरे देश में कांग्रेस एकजुट है और इस यात्रा से युवा कार्यकर्ताओं को नई ऊर्जा मिली है। भारत जोड़ो यात्रा महाराष्ट्र से गुजरने के बाद बुरहानपुर जिले के बोदरली गांव से मध्य प्रदेश में 23 नवंबर को दाखिल हुई थी। यह यात्रा 4 दिसंबर को राजस्थान में दाखिल होने से पहले, 12 दिन के भीतर पश्चिमी मध्य प्रदेश के मालवा-निमाड़ अंचल में 380 किलोमीटर का फासला तय करेगी। मध्य प्रदेश में यात्रा अब तक बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन और इंदौर जिलों से होकर गुजरी है।

पूर्व मंत्री भनोत ने भी प्रदेश सरकार पर साधा निशाना

मीडिया से चर्चा करते हुए प्रदेश के पूर्व मंत्री तरुण भनोत ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार इन्वेस्टर्स समिट पर जनता की कमाई खर्च कर रही है, लेकिन सड़क, बिजली और पानी की व्यवस्था ही ठीक से नहीं है। मध्यप्रदेश पर 3 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है। आखिर वह पैसा कहां खर्च हो रहा है? उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश की जनता भी जानती है कि यहां सड़कें बनती बाद में है और बह पहले जाती हैं। आप सबने देखा कि कैसे बरसात में 6 महीने पहले बने पुल, नेशनल हाइवे, स्टेट हाइवे सब बह गए। ये सड़कें शुद्ध रूप से भ्रष्टाचार का प्रतीक है।

Related Articles

Back to top button