मध्य प्रदेश

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ को कहा ‘पलटनाथ’

हनीट्रैप सीडी और पेनड्राइव का मामला फिर गरमाया

भोपाल। मध्य प्रदेश में इन दिनों हनीट्रैप की सीडी और पेनड्राइव का मामला  फिरगर्माया हुआ है। दरअसल, हाल ही में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा थि उनके पास हनीट्रैप की सीडी और पेनड्राइव नहीं है। इस मामले में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कमलनाथ को ‘पलटनाथ कहा है। गृह मंत्री ने कहा कि कमलनाथ एक हफ्ते में दूसरी बार अपने बयान से पलट गए हैं। पूरा प्रदेश जानता है कि 10 दिन में दो लाख का कर्ज माफ न होने पर मुख्यमंत्री बदलने के बयान से पलटे, नौजवानों के बेरोजगारी भत्ते से पलटे। पेट्रोल डीजल दाम कम करने को कहा और फिर उस पर पलट गए, कर्मचारियों के डीए पर पलट गए। ये पलटनाथ जी हैं। कमलनाथ की हमेशा से अपनी बात से पलटने की आदत रही है और अगर वो एक बार फिर सतना में दिए अपने बयान से पलट गए हैं, तो इसमें कोई नई बात नहीं है।

करणी सेना की चेतावनी पर यह बोले गृह मंत्री

वहीं, चार दिनों से भोपाल में आंदोलन कर रही करणी सेना की चेतावनी पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने नरम स्वर दिखाते हुए कहा कि वह हमारे अपने हैं, कोई गैर नहीं, हम भाईयों में आपस में कोई बैर नहीं है। उन्होंने कहा कि हम उनसे बात करेंगे और उम्मीद है कि वो मान जाएंगे। ज्ञात हो कि एमपी की राजधानी भोपाल में पिछले 4 दिनों से 21 सूत्रीय मांगों को लेकर करणी सेना धरना प्रदर्शन कर रही है। करणी सेना के इस जन आंदोलन ने प्रदेश की राजनीति में एक और नया अध्याय जोड़ दिया है। धरने के दौरान करणी सेना प्रमुख जीवन सिंह ने कहा कि अगर मांगें पूरी नहीं हुई तो सरकार बदल जाएगी। अगर उन्हें गुमान है अपनी सत्ता पर तो हम भी तख्तों-ताज पलटने का हुनर रखते हैं।

भाजपा को मत दो वोट

दूसरी ओर मंगलवार को करणी सेना प्रमुख का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें उन्होंने अपने प्रदर्शनकारी साथियों से कहा था कि भाजपा को वोट मत दो। इस वीडियो में वे समर्थकों को कसम खिलाते हुए देखे जा रहे हैं। साथ ही साथ उन्होंने कहा कि चुप रहने से परिवर्तन नहीं आएगा। हम परिवर्तन करने आए हैं, हमारे बोलने से ही परिवर्तन आएगा। अगर तुम लोग चाहते हो कि जीवन सिंह मरने के बाद भी जिंदा रहे तो मेरे मरने के बाद भी उपद्रव मत करना और यहीं शांतिपूर्ण तरीके से बैठे रहना। इसके अलावा यह भी उल्लेखनीय है कि प्रदेश के कई हिस्सों में करणी सेना द्वारा सीएम शिवराज सिंह का पुतला फूंका जा रहा है।

15 दिन के खाने का इंतजाम कर रखा है करणी सेना ने

बीते 8 जनवरी से अपनी मांगों को लेकर करणी सेना धरना दे रही है, मांगें पूरी नहीं होने की वजह से करणी सेना जंबूरी मैदान से एमपी नगर की तरफ बढ़ने लगी। लेकिन, उन्हें महात्मा गांधी चौराहे पर ही प्रशासन द्वारा रोक लिया गया। इसके बाद करणी सेना प्रमुख जीवन सिंह शेरपुर सहित 5 लोगों ने भूख हड़ताल शुरू कर दी। वहीं अन्य कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए। मंगलवार को दो लोग और उनके साथ भूख हड़ताल पर बैठ गए। इस तरह भूख हड़ताल करने वालों की संख्या अब 7 हो गई है। आंदोलन में शामिल लोगों का कहना है कि हमारे पास 15 दिनों तक खाने का इंतजाम है और पर्याप्त मात्रा में राशन है। आंदोलन तब तक जारी रहेगा, जब तक हमारी मांगें नहीं मानी जाती।

Related Articles

Back to top button