मध्य प्रदेश

पूर्व भाजपा मंत्री जयभान सिंह पवैया ने उठाई मदरसों के सर्वे की मांग, कहा- पैनी निगाह जरूरी…

भोपाल। बीजेपी के पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने कहा है कि मदरसे संदिग्ध नजर से देखे जाते रहे हैं. इसिलए मध्य प्रदेश में भी इनका सर्वे कराया जाना चाहिए. अगर किसी स्कूल का सर्वे हो सकता है तो मदरसे का भी होना चाहिए. केवल मध्य प्रदेश ही नहीं, देश के सभी राज्यों में इनका सर्वे होना चाहिए.

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश में भी मदरसों का सर्वे कराए जाने की मांग उठने लगी है. एमपी बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने अपने एक बयान में कहा है कि मदरसों का मध्य प्रदेश में भी सर्वे कराया जाना चाहिए. इसके अलावा उन्होंने देश के बाकी प्रदेशों में भी सर्वे कराने की मांग की है. उन्होंने कहा कि मदरसों पर पैनी निगाह रखनी जरूरी है. पवैया ने कहा कि सर्वे पर अगर किसी को आपत्ति है तो देश उनकी दादागिरी से नहीं चलेगा. सभी मदरसे संदिग्ध नहीं हैं, लेकिन जो हैं उन पर नजर जरूरी है.

जय भान सिंह पवैया ने एक न्यूज चैनल से चर्चा करते हुए कहा कि मदरसे संदेह की नजर से देखे जाते रहे हैं. किसी स्कूल का सर्वे हो सकता है तो मदरसे का क्यों नहीं हो सकता? एमपी के साथ देश के सभी राज्यों में मदरसों का सर्वे होना चाहिए. पवैया बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक में शामिल होने भोपाल आए थे. वह बीजेपी के हिंदूवादी छवि के नेता माने जाते हैं. पवैया बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक रह चुके हैं. उन्होंने कहा मदरसों पर पैनी निगाह रखी जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि सर्वे पर अगर किसी को आपत्ति है तो देश उनकी दादागिरी से नहीं चलेगा. हालांकि, उन्होंने अपने बयान में ये भी कहा सभी मदरसे संदिग्ध नहीं हैं, लेकिन जो हैं उन पर नजर जरूरी है.

इससे पहले बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने भी मदरसों पर बयान दिया था. रामेश्वर ने कहा था कि मदरसों में आतंकी या देश विरोधी गतिविधियां हुईं तो तोड़े जाएंगे. मदरसों में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे नहीं लग सकते. आईएसआई एजेंट मदरसों में नहीं रह सकते. शिक्षा का प्रचार-प्रसार होगा तो ठीक है, देश द्रोह की बात हुई तो एक्शन होगा. अवैध तरीके से चलने वाले मदरसे तोड़े जाने चाहिए.

विपक्ष ने दी ये सलाह

मदरसों को लेकर विपक्ष का बयान भी सामने आया है. कांग्रेस प्रवक्ता अब्बास हाफिज ने बीजेपी नेताओं को सलाह दी है कि धर्म विशेष को टारगेट करने के लिए बीजेपी नेता ऐसे बयान देते हैं. शिक्षा के किसी भी केंद्र में अगर गलत होता है तो उस पर कार्रवाई होनी चाहिए.

Related Articles

Back to top button