मध्य प्रदेश

कांग्रेस की यात्रा में भाजपा सरकार ने नहीं दी सुरक्षा, यूथ कांग्रेस नेता पर कट्टे से दो बार किया मिस फायर, भीड़ ने लात- घूसों से जमकर पीटा …

ग्वालियर। नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह की सुरक्षा में बड़ी चूक सामने आई है। प्रदेश भाजपा सरकार द्वारा यात्रा को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराए जाने के कारण यहां नेता प्रतिपक्ष के नेतृत्व में निकल रही भारत जोड़ो उपयात्रा के दौरान एक युवक लोडेड कट्‌टा लेकर यात्रा में घुस गया। उसने यात्रा में शामिल यूथ कांग्रेस के जिला सचिव छोटू उर्फ अवधेश तोमर पर हमला कर दिया। उसने 2 बार ट्रिगर दबाया, लेकिन दोनों बार फायर मिस हो गए, अन्यथा बड़ी घटना हो सकती थी। वह तीसरी बार कट्‌टा लोड करने लगा, इसी बीच भीड़ ने पकड़कर उसकी जमकर पिटाई कर दी, लेकिन इतने में ही किसी ने उसे भीड़ से बाहर कर दिया। बहरहाल, पुलिस जांच कर रही है।

उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा मध्यप्रदेश में बुरहानपुर के रास्ते 20 नवंबर तक एंट्री कर सकती है। ऐसे में मध्यप्रदेश में भारत जोड़ो उप यात्राएं निकाली जा रही हैं। मंगलवार को नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के सीनियर लीडर डॉ. गोविंद सिंह भिंड से भारत जोड़ो उप यात्रा लेकर चले थे। ग्वालियर के महाराजपुरा में यात्रा का स्वागत होना था। यहां से यह यात्रा आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी ग्वालियर कांग्रेस की थी। वहीं, युवक कांग्रेस के जिला सचिव छोटू पर हमला करने वाले की पहचान जीतू गुर्जर निवासी मुरैना के रूप में हुई है।वह गोला का मंदिर शराब ठेके पर काम करता है। छोटू का क्षेत्र भी गोला का मंदिर क्षेत्र ही है।

आरोपी का यूथ कांग्रेस नेता छोटू से पूर्व से ही विवाद चल रहा है। दोनों में कई बार झगड़ा हो चुका है। ये भी पता लगा है कि कुछ दिन पहले छोटू उससे मारपीट कर चुका था। यात्रा के दौरान हमले से 20 मिनट पहले भी बरैठा टोल पर पहले कार निकालने की बात पर दोनों में बहस हुई थी। वैसे यात्रा का रूट तो अलग था, लेकिन लक्ष्मणगढ़ के पास दशरथ सिंह गुर्जर के घर पर यात्रा के स्वागत का कार्यक्रम था। दशरथ रिश्ते में हमलावर के चाचा लगते हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता साहब सिंह भी अपनी पूरी टीम के साथ यहां स्वागत करने के लिए खड़े थे।

हाल ही में भाजपा से कांग्रेस में आए दबंग नेता और पार्षद पति बलवीर तोमर भी अपने पुत्र यूथ कांग्रेस जिला सचिव छोटू उर्फ अवधेश तोमर के साथ यहां पहुंचे थे। जब यात्रा का स्वागत चल रहा था, तभी एक बोलेरो वाहन से जीतू उतरा और छोटू को टारगेट कर कट्‌टे से 2 फायर कर दिए। हालांकि, ये दोनों ही फायर मिस हो गए।

यूथ कांग्रेस नेता छोटू पर भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। भाजपा में रहते हुए छोटू और उसके पिता बलवीर तोमर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के खास माने जाते थे, लेकिन भाजपा से टिकट न मिलने पर वह कांग्रेस में आ गए। वार्ड-19 से छोटू की मां कमलेश बलवीर तोमर ने चुनाव लड़ा और जीता भी था। कांग्रेस में जाने के बाद नगरीय निकाय चुनाव के समय छोटू को एसएसपी ग्वालियर के प्रतिवेतन पर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिलाबदर भी घोषित कर दिया था। बाद में उसका जिलाबदर आदेश बदला गया था।

यात्रा को लेकर पुलिस-प्रशासन की चूक सामने आई है। यात्रा में सैकड़ों लोग थे। इसके बाद भी कांग्रेस नेता पर हमला हो गया। पुलिस कहीं नजर नहीं आई। इस बारे में नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि भिंड की सीमा तक उन्हें पुलिस की पूरी सुरक्षा मिली, लेकिन ग्वालियर आते ही सुरक्षा नहीं थी। सीएसपी महाराजपुरा रवि भदौरिया का कहना है कि ग्वालियर पुलिस को इस यात्रा के आने और उसके स्वागत के लिए इतनी भीड़ जुटने की कोई सूचना नहीं दी गई थी। वरना वहां पुलिस होती और ऐसा कुछ नहीं होता।

Related Articles

Back to top button