मध्य प्रदेश

पूर्व बिशप की पत्नी को ईओडब्ल्यू ने भी आरोपी बनाया, मिशनरी की जमीन बेचकर कथित रूप से बेहिसाब संपत्ति कमाने वाले सिंह और उनके बेटे पहले से ही हैं जेल में …

जबलपुर। पूर्व बिशप पीसी सिंह के परिवार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। पीसी सिंह और उसके बेटे पीयूष पाल के बाद अब जबलपुर ईओडब्ल्यू ने पीसी सिंह की पत्नी नोरा सिंह को भी आरोपी बनाया है। कथित रूप से मिशनरी की जमीन बेचकर बेहिसाब संपत्ति कमाने वाले सिंह और उनके बेटे इस घोटाले में पूर्व से ही जेल में हैं।

सिंह की पत्नी नोरा सिंह पर आरोप है कि उसने अपने पति के बिशप रहते हुए ईसाई मिशनरी के संस्थाओं में खूब हस्तक्षेप किया और मोटी रकम भी हासिल की। पीसी सिंह ने अपनी पत्नी नोरा सिंह को कई संस्थाओं में बकायदा डायरेक्टर भी नियुक्त किया था, जिसमें उसने बड़े पैमाने पर घोटाले भी किए। जबलपुर ईओडब्ल्यू की जांच में नोरा सिंह को इन फर्जीवाड़े और अनियमितताओं में शामिल पाया गया है, इसलिए षड्यंत्र में शामिल होने का उन्हें आरोपी बनाया गया है। बताया जाता है कि नोरा बीमार हैं, इसलिए उनकी गिरफ्तारी नहीं की गई है।

पुलिस के अनुसार पीसी सिंह की पत्नी ने तकरीबन 70 लाख रुपए से अधिक के घोटाले किए गए हैं। नोरा सिंह विकास आशा केंद्र और शिशु संगोपन ग्रह की पूर्व कालिक वेतन भोगी डायरेक्टर भी रही हैं। इसके अलावा नोरा सिंह को क्राइस्ट चर्च सीनियर स्कूल फॉर बॉयज एंड गर्ल्स, आईसीएसी विंग, क्राइस्टचर्च गर्ल्स स्कूल हॉस्टल, स्कूल विथ नो इन्फ्रास्ट्रक्चर में मैनेजर भी बनाया गया था। इसके अलावा कटनी, दमोह और बिलासपुर में चल रहे स्कूल के मैनेजर पद पर भी नोरा सिंह को पीसी सिंह ने नियुक्त किया था।

Related Articles

Back to top button