मध्य प्रदेश

कांग्रेस नेताओं को राहुल की यात्रा में उपद्रव की आशंका, नेता प्रतिपक्ष सहित वरिष्ठ नेताओं ने वीडियो जारी कर भाजपा पर लगाए गंभीर आरोप …

भोपाल। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा जैसे-जैसे मप्र के करीब आ रही है, बयानबाजी तेज होती जा रही है। अब तक राहुल के ऊपर बीजेपी नेताओं के जुबानी हमले जारी थे, लेकिन मंगलवार को भिंड से ग्वालियर आ रही भारत जोड़ो उपयात्रा में नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविन्द सिंह की मौजूदगी में पार्षद के बेटे पर फायरिंग की घटना से कांग्रेस नेता सरकार से खासे नाराज हैं। इस घटना के बाद कांग्रेस के सीनियर नेताओं ने वीडियो जारी कर मप्र में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में हमले की आशंका जताई है।

नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह, पूर्व मंत्री अजय सिंह राहुल भैया, अरुण यादव, जयवर्धन सिंह, युवक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया और प्रदेश मीडिया अध्यक्ष केके मिश्रा ने बयान जारी करते हुए सरकार से भारत जोड़ो यात्रा और राहुल गांधी की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा से सत्ताधारी भाजपा बुरी तरह बौखला गई है। 20 नवंबर को राहुल गांधी की यात्रा मध्यप्रदेश में प्रवेश कर रही है। लेकिन इस यात्रा से पहले ही यात्रा से संबंधित डॉक्टर गोविंद सिंह की यात्रा में जिस तरह से एक व्यक्ति कट्टा लेकर प्रवेश कर गया और गोली चलाई, उससे स्पष्ट होता है कि भाजपा सरकार जानबूझकर यात्रा को समुचित सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध नहीं करा रही।

कांग्रेस नेताओं का कहना है कि यह घटना ठीक उसी दिन हुई है जिस दिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने इंदौर में आधिकारिक रूप से राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूरे कार्यक्रम को सार्वजनिक किया। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि इसे सिर्फ संयोग नहीं माना जा सकता। उन्होंने आशंका जताई कि राहुल गांधी की यात्रा जब मध्यप्रदेश में प्रवेश करेगी तो भारतीय जनता पार्टी असामाजिक तत्वों के माध्यम से यात्रा में व्यवधान उत्पन्न कर सकती है। नेताओं ने कहा कि सत्ताधारी दल होने के नाते भाजपा की यह जिम्मेदारी है कि वह जिम्मेदारी से अपना काम करे और भाजपा सरकार राहुल गांधी की यात्रा को निर्विघ्न संपन्न होने दे।

नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविन्द सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी है कि वह प्रदेश में कानून व्यवस्था स्थापित करे और किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में असामाजिक तत्वों का प्रवेश ना होने दे। लेकिन जिस तरह के बयान भाजपा सरकार के मंत्री दे रहे हैं उससे ऐसा लगता है कि वह कानून व्यवस्था बनाने के बजाय कानून व्यवस्था बिगाड़ने का इरादा रखते हैं। नेताओं ने कहा कि राहुल गांधी भारत के इतिहास की सबसे लंबी पदयात्रा निकाल रहे हैं और इससे पूरे देश में एक नया जोश है। मध्यप्रदेश में भी यात्रा 350 किलोमीटर से अधिक का सफर तय करेगी। इस दौरान राहुल गांधी बाबा महाकाल के दर्शन करेंगे। राहुल गांधी संविधान निर्माता बाबासाहेब आंबेडकर और आदिवासी समाज के महानायक टंट्या भील की जन्मस्थली पर भी जाएंगे। वे ओमकारेश्वर में भी दर्शन करेंगे। राहुल गांधी के इस तरह के सार्वजनिक कार्यक्रमों को देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार को तुरंत एक बयान जारी करके यह स्पष्ट करना चाहिए कि राहुल गांधी की यात्रा को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी।

नेताओं ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पूरी तरह से सजग रहना चाहिए और अपनी तरफ से इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि भाजपा राहुल गांधी की यात्रा के दौरान कोई षड्यंत्र या शरारत ना कर सके। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की कि वे अपने पद के दायित्व का ईमानदारी से निर्वहन करें और यात्रा के लिए पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम करें।

Related Articles

Back to top button