लखनऊ/उत्तरप्रदेश

बुकर पुरस्कार विजेता गीतांजलि का आगरा कार्यक्रम रद्द, किताब पर विवाद को लेकर बोलीं- जिन लोगों को आपत्ति है, उन्हें हिंदू पौराणिक ग्रंथों को अदालत में देनी चाहिए चुनौती ….

आगरा। अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार विजेता गीतांजलि को सम्मानित करने के लिए शनिवार को आगरा में आयोजित होने वाला कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक गीतांजलि के उपन्यास रेत समाधि के खिलाफ दायर एक शिकायत के कारण कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है।

आयोजकों ने शनिवार को एक प्रेस रिलीज जारी करते हुए एक ट्वीट में कहा कि संदीप कुमार ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्य के पुलिस प्रमुख से मामले पर प्राथमिकी दर्ज करने का आग्रह किया है। इस मामले पर पुलिस का कहना है कि वो किताब पढ़ने के बाद प्राथमिकी दर्ज करने के बारे में निर्णय लेगी। आयोजकों के मुताबिक गीतांजलि ने उनसे कहा है कि वो इस बात से आहत हैं और फिलहाल किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल नहीं होना चाहतीं।

जानकारी के मुताबिक बुधवार को स्थानीय मीडिया द्वारा हाथरस में गीतांजलि के खिलाफ शिकायत के बारे में रिपोर्ट किए जाने के बाद कुछ असामाजिक तत्वों ने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में आयोजित एक सम्मान समारोह को बाधित करने का भी प्रयास किया था।

गीतांजलि ने आयोजकों से कहा है कि ‘मेरे उपन्यास को जबरदस्ती राजनीतिक विवाद में घसीटा जा रहा है।’ उपन्यास में किए गए संदर्भ भारतीय पौराणिक कथाओं का अभिन्न अंग हैं। जिन लोगों को इन विवरणों पर आपत्ति है, उन्हें हिंदू पौराणिक ग्रंथों को अदालत में चुनौती देनी चाहिए।

गौरतलब है कि गीतांजलि की रेत समाधि किताब ने मई में अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2022 जीता था। यह पहला हिंदी उपन्यास है और यह पुरस्कार जीतने वाला भारत के साथ-साथ दक्षिण एशिया का पहला उपन्यास है।

Related Articles

Back to top button