Breaking News

भाजपा नेता जीत गया कांग्रेस यूथ विंग के महासचिव का चुनाव, पढ़े पूरी खबर …

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस को उस समय शर्मनाक स्थिति का सामना करना पड़ा, जब संगठन के चुनाव में बीजेपी नेता ने जीत दर्ज कर ली। दरअसल, यह बीजेपी नेता कांग्रेस के पूर्व सांसद और वर्तमान में भगवा पार्टी में शामिल हो चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया का समर्थक था, जिसने बाद में कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा ज्वाइन कर ली थी। इस घटना के बाद बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस पर तंज कसना शुरू कर दिया है।

[img-slider id="25744"]

मध्य प्रदेश में इस महीने हुए संगठनात्मक चुनाव में कांग्रेस पार्टी के यूथ विंग के एक जिला इकाई के महासचिव के रूप में हर्षित सिंघई को जीत मिली। यूथ कांग्रेस के नेताओं ने इसे एक चीप पब्लिसिटी स्टंट बताते हुए बीजेपी कार्यकर्ता को इस पद के लिए अपने चुनाव के लिए जिम्मेदार ठहराया है। बीजेपी नेताओं ने भी कांग्रेस पर पलटवार करते हुए उनकी पार्टी में चुनाव की प्रक्रिया पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं।

हर्षित सिंघई को ज्योतिरादित्य सिंधिया का समर्थक माना जाता है। इस वजह से उन्होंने बाद में बीजेपी का दामन थाम लिया था। बीजेपी में शामिल होने के नौ महीने के बाद वह जबलपुर नॉर्थ विधानसभा सीट से राज्य यूथ कांग्रेस के महासचिव पद के लिए चुने गए। एमपी यूथ कांग्रेस में विभिन्न पदों के लिए चुनाव 10-12 दिसंबर के बीच कराया गया था। नतीजों का ऐलान 18 दिसंबर को हुआ है। सिंघई ने महासचिव पद जीत दर्ज करते हुए 12 वोट्स हासिल किए।

एमपी यूथ कांग्रेस इलेक्शन कॉर्डिनेटर मकसूद मिर्जा ने कहा, ”यह बीजेपी की चीप पब्लिसिटी स्टंट है। सिंघई ने मार्च महीने में अपना नॉमिनेशन दाखिल किया था। इसके बाद, उन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर ली, लेकिन अपना नाम वापस नहीं लिया। चूंकि, पूरी चुनावी प्रक्रिया ऑनलाइन हुई थी, इस वजह से किसी ने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया। 1800 से ज्यादा लोगों ने नॉमिनेशन दाखिल किया था। हालांकि, सिंघई कोई ज्यादा लोकप्रिय नेता नहीं हैं।”

Check Also

प्रणेता साहित्य संस्थान द्वारा आनलाइन पुस्तक लोकार्पण आयोजन और काव्य गोष्ठी …

बेंगलुरु। प्रणेता साहित्य संस्थान द्वारा 16 मई को वरिष्ठ साहित्यकार पुष्पा शर्मा कुसुम की पुस्तक …

error: Content is protected !!