Breaking News

वर्क फ्रॉम होम की सुविधा के बिना सफाई कर्मचारी प्रतिदिन कर रहे डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन …

रायपुर (गुणनिधि मिश्रा) । कोरोनाकाल में अधिकांश अफसर व कर्मचारी “वर्क फ्रॉम होम” काम कर रहे हैं। वे साफ-सुथरी जगहों पर रहकर भी खुदको कोरोना से बचाने जद्दोजहद कर रहे हैं। ऐसे समय में देशभर के सफाई कर्मचारी गंदगी में रहकर भी खुद को कोरोना जैसी महामारी से न केवल खुद को सुरक्षित रखे हुए हैं बल्कि “वर्क फ्रॉम होम” का कोई ऑप्शन न होने के बाद भी न्यूनतम वेतन पर प्रतिदिन घर-घर जाकर कचरा कलेक्शन कर रहे हैं। उनके इस काम का ही नतीजा है कि आज हम अपने घरों में बैठकर सुरक्षित “वर्क फ्रॉम होम” कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण से जहाँ पूरा विश्व भयभीत है, वहीं इस विपदा की घड़ी में सफाई कर्मचारियों ने अपना दायित्व पूरी निष्ठा के साथ निभाकर नगर को आपदा से बचाने के कार्य में बिना “वर्क फ्रॉम होम”  की सुविधा के जी-जान से जुटे हुए हैं।

कोरोना के संक्रमण को देखते हुए लगाए गए  लॉकडाउन में सब अपने घरों में घिर गए है परंतु ऐसे समय में नगर की सफाई का दायित्व सफाई कर्मचारियों ने बखूबी निभाया है ।वे सामान्य दिनों के समान लॉक डाऊन की अवधि में भी अपने कर्तव्य के प्रति समर्पित हो कर प्रतिदिन नागरिकों के घर-घर दस्तक दे रही हैं और डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन कर कर रही हैं। इसके साथ ही सड़कों की साफ-सफाई और घरों से उठाए गए कचरे के प्रबंधन के कार्य को भी अंजाम दे रही हैं। पूरे शहर की साफ-सफाई के लिए प्रतिबद्ध होकर वे कोविड-19 की इस विषम परिस्थितियों में समर्पित भाव से अपनी सेवाएं दे रही हैं। जगदलपुर नगर निगम अंतर्गत 48 वार्डों में 663 सफाई कर्मचारियों द्वारा जगदलपुर शहर की साफ-सफाई का कार्य किया जा रहा है।

जहाँ कोरोना के प्रकरण सामने आते हैं, वहाँ सबसे अधिक भय का वातावरण निर्मित होता है, वहां भी निगम का स्वच्छता दल ही क्षेत्र की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सेनेटाइज करने का कार्य किया जा रहा है। सेनेटाईजर के लिए समर्पित एक दल कार्यालयों तथा होम आईसोलेशन में रह रहे मरीजों के घरों को सेनेटाईज करने का कार्य कर रही है। इसके अलावा 48 वार्ड में दवाई छिड़काव मशीन (नीला बक्सा) भी प्रदाय किया गया है। आॅफिस कोरोना के बढ़ते प्रकरण को देखते हुए शहर के जागरूक पार्षद द्वारा भी मोहल्लों में सेनेटाईज करने के लिए स्वयं निगम के सफाई कर्मचारियों की सेवाएं ले रहे हैं।

इसके साथ ही निगम के अमले द्वारा कोरोना संक्रमित व्यक्ति के शव का अंतिम क्रियाकर्म भी परम्पराओं के अनुसार पूरे सम्मान के साथ कर समाज को महत्वपूर्ण योगदान दिया जा रहा है। कोरोना वायरस ने ऐसी परिस्थिति निर्मित कर दी है कि कोरोना मरीज की यदि मृत्यु हो गई तो उसे प्रोटोकॉल के आधार पर ही अंतिम संस्कार किया जा रहा है। इस कार्य के लिए निगम के कर्मचारियों का सहयोग स्वास्थ्य विभाग, राजस्व- पुलिस विभाग और जिला रेडक्रास सोसायटी के द्वारा किया जा रहा है। कई बार परिवार के सदस्य उपस्थित नहीं होने की दशा में निगम के कर्मचारी के द्वारा ही मुखाग्नि दी जा रही है।

निगम जगदलपुर द्वारा इस लॉकडाऊन अवधि में शहर के नागरिकों को रोजमर्रा की आवश्यक सामग्रियों की आवश्यकता की पूर्ति के लिए राशन, किराना,फल, दवाई दुकानों से संपर्क कर उन व्यापारियों का संपर्क नम्बर वार्डवार साझा किया गया है ताकि लोंग जरूरत के सामानों के लिए शहर में इधर-उधर भटकना नहीं पड़े और लॉकडाऊन के नियम का उल्लंघन नहीं हो। साथ ही कालाबाजारी और मुनाफाखोरी रोकने के लिए भी सम्पर्क नम्बर जारी किया गया है। मुनाफाखोरी को नियंत्रण हेतु निगम द्वारा हरी सब्जी और फलों की दर प्रतिदिन निर्धारित किया गया है।इसका प्रचार- प्रसार के लिए सोशल मीडिया का उपयोग किया जा रहा है।

कोरोना की इस विकराल परिस्थिति से भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए कोरोना टीकाकरण में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया जा रहा है। इसके लिए नगर निगम के वार्ड स्तरीय कोरोना दल के द्वारा घर-घर जाकर कोरोना टीका का सर्वे कर जानकारी इकट्ठा किया जा रहा है कि हेल्थ केयर वर्कर, फ्रंट लाईन वर्कर और 45 वर्ष पूर्ण कर चूके कितने लोगों ने अब तक कोरोना टीका लगाया है। जो लोग कोरोना टीका लगाने के लिये पात्र हैं लेकिन अभी तक टीका नहीं लगाये हैं उन्हे तत्काल टीका लगाने हेतु प्रेरित किया जा रहा है।

Check Also

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की बड़ी घोषणा : पत्रकारों, वकीलों तथा उनके परिजनों को भी फ्रंट लाईन वर्कर के समान टीकाकरण में मिलेगी प्राथमिकता …

रायपुर (गुणनिधि मिश्रा) । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण …

error: Content is protected !!