नई दिल्ली

पत्नी-बच्चों के सामने मुखबिरी के आरोप में ग्रामीण को नक्सलियों ने मार डाला, घर के बाहर खड़ी पिकअप किया स्वाहा …

रायपुर। सुकमा जिले में माओवादियों ने एक बार फिर कायराना करतूत को अंजाम दिया है। गुरुवार की रात नक्सलियों ने एक ग्रामीण की हत्या कर दी है। माओवादियों ने घर में घुसकर पत्नी और बच्चों के सामने ग्रामीण को डंडे से पीट-पीटकर मार डाला और घर के सामने खड़ी पिकअप में भी आग लगाकर स्वाहा कर दिया। हत्या के बाद नक्सलियों ने पर्चा छोड़ा है, जिसमें पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया है। सूचना मिलने पर शुक्रवार की सुबह जवानों की एक टीम गांव पहुंची। करीब एक दर्जन की संख्या में सशस्त्र नक्सलियों के गांव पहुंचने की जानकारी सामने आई है। मामला पोलमपल्ली थाना क्षेत्र का है।

मिली जानकारी के मुताबिक पोलमपल्ली में गुरुवार की देर रात माओवादियों ने घर में घुसकर परिवार के सामने एक ग्रामीण की हत्या कर दी है। मृतक का नाम मड़कम जोगा है। रात लगभग 11 बजे के आसपास दर्जनभर माओवादी ग्रामीण के घर पिछले दरवाजे से हथियार लेकर घुसे। नक्सलियों ने पहले मड़कम की डंडे से बेदम पिटाई की और फिर धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी।

इस दौरान मृतक की पत्नी और बेटी ने माओवादियों से मड़कम को छोड़ देने की गुहार लगाई, लेकिन नक्सलियों पर इसका कोई असर नहीं हुआ। हत्या करने के बाद माओवादियों ने घर के बाहर खड़ी पिअकप को भी आग लगाकर स्वाहा कर दिया। मृतक घर में ही एक छोटी से किराना की दुकान चलाता था। कोंटा एरिया कमेटी ने इस घटना की जिम्मेदारी लेते हुए पर्चा भी फेंका है।

नक्सलियों ने पर्चे में मृतक मड़कम पर 9 साल से पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाया है। उसे इससे पहले चेतावानी देने की बात भी कही है। पोलमपल्ली के जिस इलाके में माओवादियों ने हत्या व आगजनी की घटना को अंजाम दिया है, वह थाने से महज 500 मीटर की दूरी पर है। माओवादियों ने बेखौफ होकर इस पूरी वारदात को अंजाम दिया। घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत है।

बीते दिनों भी कोंटा एरिया कमेटी द्वारा भेज्जी थाना क्षेत्र में एक ग्रामीण की हत्या मुखबिरी के आरोप में की गई थी, जिसे पुलिस ने अपना मुखबिर होने से इनकार किया था। सुकमा एसपी सुनील शर्मा ने कहा कि माओवादियों द्वारा ग्रामीणों पर झूठे आरोप लगाकर बेवजह मौत के घाट उतारा जा रहा है। इसके पीछे उनकी मंशा केवल दहशत फैलाना है। फ़िलहाल पुलिस द्वारा घटना की जांच की जा रही है।

Related Articles

Back to top button