नई दिल्ली

2 बच्चों की मां प्रेमी संग 7 फेरे लेकर थाने पहुंची, मरी हुई समझ नदी में खोजती रही पुलिस ….

नई दिल्ली। अजब प्रेम की गजब कहानी भाजपा शासित राज्य मध्य प्रदेश में सामने आई है, यहां जिस विवाहित महिला को नदी में डूबी हुई समझकर प्रशासन और एनडीआरएफ दिन-रात नदी में खोजता रहा, वही महिला प्रेमी के साथ सात फेरे लेने के बाद खुद थाने पहुंच गई। महिला ने परिवार को गुमराह करने के लिए नदी के पास अपनी चप्पल छोड़ दी थीं, जिससे लोग उसे मरी हुई समझें। उसके बाद महिला अपने प्रेमी के पास चली गई थी। यह पूरा मामला उज्जैन से 90 किलोमीटर दूर आलोट का है। दो बच्चे की मां के इस कदम से सभी अचंभित और हैरान हैं।

महिला विष्णु बाई प्रजापति आलोट के खजूरी देवड़ा गांव की रहने वाली है। उसकी शादी नारायणी गांव में हुई थी। दो दिन पहले विष्णु बाई अपने 2 बच्चों और पति को छोड़ घर से गायब हो गई थी। वह गांव के पास लूनी नदी के किनारे चप्पल छोड़कर अपने प्रेमी के साथ राजस्थान के ढाबला सिया गांव चली गई थी। जहां उसने अपने पुराने प्रेमी संग दोबारा शादी कर ली। महिला के प्रेमी के मामा परिवार खजूरी देवड़ा में रहता है। लड़के ने अपने मामा के गांव खजूरी देवड़ा में पढ़ाई की थी, तभी से इन दोनों का प्रेम-प्रसंग चल रहा था। महिला और उसके प्रेमी ने गांव के ही शिव मंदिर में शादी कर ली है।

महिला ने पति और ससुराल वालों चकमा देने के लिए नदी के किनारे चप्पल छोड़ दी थीं। ससुराल वाले जब उसे तलाश करने नदी किनारे पहुंचे तो उन्हें बहू की चप्पल नदी किनारे पड़ी मिलीं। ससुराल वालों को लगा कि उनकी बहू नदी में डूब गई है। इसकी सूचना तुरंत आलोट पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर एनडीआरएफ को बुलाया, एनडीआरएफ की टीम ने पूरा दिन अभियान चलाकर युवती को ढूंढने का काफी प्रयास किया, लेकिन वह नहीं मिली।

जानकारी के मुताबिक, विष्णु बाई प्रजापति की शादी नारायणी गांव के बबलू प्रजापति से 7-8 साल पहले शादी हुई थी। पति के मुताबिक, उनके बीच सब कुछ ठीक चल रहा था। वह परिवार में खुशी-खुशी रह रही थी। अब इस घटना के बाद उसे काफी समझाया, लेकिन वह नहीं मानी और दूसरी शादी कर नया घर बसा लिया। विष्णु बाई प्रजापति के दो बेटे हैं, जो अब उसके पुराने पति के साथ ही रहेंगे। फिलहाल आलोट पुलिस ने विष्णु बाई प्रजापति को नारी निकेतन रतलाम भेज दिया है। 

Related Articles

Back to top button