नई दिल्ली

रिम्स में मात्र आधा लीटर पानी और 16 सौ कैलोरी युक्त भोजन लेंगे राजद प्रमुख व पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव, पुराने डॉक्टर को किया याद …

नई दिल्ली। राजद प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद को सीबीआई कोर्ट से दोषी करार दिए जाने के बाद एक बार फिर से रिम्स के पेइंग वार्ड का कमरा ए-11 एलॉट किया गया है। इधर, लालू के रिम्स में भर्ती होते ही पेइंग वार्ड को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। वार्ड के मुख्य द्वार पर मेटल डिटेक्टर लगाया गया है। हर आने-जाने वालों की जांच की जा रही है। लालू प्रसाद की सुरक्षा में तीन शिफ्ट में 30 जवान तैनात किए गए हैं। बुधवार को पेइंग वार्ड की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने सदर डीएसपी प्रभात रंजन बरवार भी पहुंचे।

सदर डीएसपी प्रभात रंजन ने कहा कि लालू प्रसाद को इलाज के लिए पेइंग वार्ड में रखा गया है। उनकी सुरक्षा और जेल मैन्युअल का सख्ती से पालन हो, इसको लेकर पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। मैन्युअल का उल्लंघन नहीं हो इसको लेकर तैनात जवानों को ब्रीफिंग की गयी। सदर डीएसपी ने कहा कि प्रशासन के वरीय पदाधिकारी भी यहां औचक निरीक्षण के लिए पहुंच सकते हैं। इधर, रिम्स पेइंग वार्ड के बाहर खड़े लोगों से बरियातू थाने की पुलिस ने पूछताछ की। वहीं परिसर में खड़े वाहनों की भी जांच की गयी। मौके पर थाना प्रभारी ज्ञानरंजन की अगुआई में बरियातू थाने की पुलिस पहुंची थी।

लालू प्रसाद के इलाज के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है। बुधवार की सुबह डॉक्टरों की टीम उन्हें देखने पहुंची। डॉक्टरों ने जरूरी जांच कराने को कहा है। इसके अलावा कोरोना जांच भी की गयी, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आयी। लालू का इलाज कर रहे डॉ विद्यापति ने बताया कि उनकी सभी जांच की रिपोर्ट दो से तीन दिन में आ जाएगी। उसके बाद ही मेडिकल बोर्ड निर्णय लेगी की इलाज कैसे आगे बढ़ाना है। उन्होंने बताया कि फिलहाल पुरानी दवाएं ही चलाई जाएंगी। किडनी की परेशानी को देखते हुए लालू प्रसाद को सिर्फ दिन भी में आधा लीटर पानी पीने की सलाह दी है। डॉ विद्यापति ने बताया कि वे पहले से ही किडनी, हार्ट समेत विभिन्न बीमारियों से ग्रस्त हैं, इसलिए यह कहना सही नहीं होगा की वे ठीक हैं।

उन्होंने कहा कि एम्स के चिकित्सकों की गाइडलाइन के अनुसार रिम्स में भी उनका इलाज चल रहा है। डॉ विद्यापति ने बताया कि लालू प्रसाद को किडनी की फोर्थ स्टेज की समस्या है, पर फिलहाल डायलिसिस पर विचार नहीं कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अगर स्थिति बनी तब ही विचार किया जाएगा।

लालू प्रसाद को डॉक्टरों ने 1600 कैलोरी युक्त भोजन दिए जाने की सलाह दी है। उन्हें फिलहाल खाने में रोटी, हरी सब्जियां, थोड़ा चावल, दाल और दूध दिया जा रहा है। नई रिपोर्ट आने तक उनके खाने में किसी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा। रिपोर्ट आने के बाद डायटिशियन को नया डायट चार्ट बनाना होगा। डॉक्टरों के मुताबिक लालू प्रसाद की पहली रात बेचैनी में कटी। वे ठीक से सो नहीं पाए।

पिछली बार लालू प्रसाद रिम्स में करीब 26 महीने तक इलाजरत थे। इस दौरान उनका इलाज उमेश प्रसाद कर रहे थे। बुधवार को जब डॉक्टरों की टीम पहुंची तो लालू ने पूछ दिया कि कहां हैं डॉ उमेश प्रसाद। उसके बाद अफसोस जताते हुए डॉक्टरों ने उमेश प्रसाद के बारे में बताया। बता दें कि डॉ उमेश प्रसाद का पिछले साल 14 अगस्त को निधन हो गया था।

Related Articles

Back to top button