लखनऊ/उत्तरप्रदेश

मानसून समय पर आ जाने के बाद भी जुलाई में बारिश का संकट, इन जिलों में केवल कुछ दिन मिलेगी राहत …

लखनऊ। मौसम विज्ञानियों के अनुसार मानसून में बारिश के दिन घट रहे हैं। क्लाइमेट चेंज इसका बड़ा कारण है। वहीं पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, बहराइच, श्रावस्ती, गोरखपुर, संतकबीरनगर, बस्ती, सुल्तानपुर, वाराणसी, सोनभद्र, झांसी, बांदा और ललितपुर में 15 से 16 दिनों तक बारिश के आसार कम रहेंगे। बाकी दिनों में अच्छी बारिश की संभावना है।

यूपी में 29 जून से 1 जुलाई के बीच मानसून दस्तक देने जा रहा है। मानसून आने के बाद भी यूपी के कई जिलों में जुलाई के महीने में बारिश की बहुत कम संभावना है। कुछ जिलों में तो केवल 11 दिन ही बारिश होने की भविष्यवाणी की गई है। मानसून आने के बाद यूपी में जुलाई, अगस्त, सितंबर में जोरदार बारिश होती है। इस बार जुलाई में बारिश कम होने की आशंका है। 14 जिलों में जुलाई में 21 दिन बारिश नहीं होने के आसार हैं।

मौसम विभाग के आंकड़ों पर नजर डालें तो वेस्ट यूपी के शामली, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, सहारनपुर, मेरठ, अलीगढ़, मथुरा, बुलंदशहर, आगरा, मुज्जफरपुर समेत 14 जिलों में 19 से 21 दिन ड्राई डे रहेंगे। जुलाई में 19 से 21 दिनों तक बारिश नहीं होगी। बाकी के बचे 10 दिनों में बारिश होगी।

मौसम विभाग के मुताबिक यूपी के अन्य जिले जैसे कानपुर, लखनऊ, अयोध्या, कानपुर देहात, एटा, हाथरस, कासगंज, इटावा, औरैया, फर्रुखाबाद जैसे जिलों में सामान्य बारिश होने के आसार हैं। यहां सामान्य 17 से 19 दिनों तक बारिश नहीं होगी। इसके अलावा 11 से 12 दिनों तक बारिश होने के पूरे आसार हैं।

वर्तमान मौसम की बात करें तो शुक्रवार को प्रदेश में कानपुर दूसरा सबसे गर्म शहर रहा। बांदा में तापमान 42.2 डिग्री रहा, वहीं कानपुर में अधिकतम तापमान 41 डिग्री रिकॉर्ड हुआ। जबकि यूपी में सबसे कम तापमान गोरखपुर का 36.5 डिग्री दर्ज हुआ। वहीं पूरे यूपी में अब लू का असर पूरी तरह खत्म हो चुका है। हालांकि उमस ने लोगों को परेशान कर रखा है।

Related Articles

Back to top button