Breaking News

राहुल गांधी ने सभी के लिए की टीकाकरण की मांग, कहा- टीके की जरूरत को लेकर बहस करना हास्यास्पद …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के सभी नागरिकों के लिए कोरोना के टीके की पैरवी करते हुए बुधवार को कहा कि इस टीके की जरूरत को लेकर बहस करना हास्यास्पद है तथा हर भारतीय सुरक्षित जीवन का मौका पाने का हकदार है। उन्होंने ‘कोविड वैक्सीन हैशटैग से ट्वीट किया, ”जरूरत और मर्जी को लेकर बहस करना हास्यास्पद है। हर भारतीय सुरक्षित जीवन का मौका पाने का हकदार है। मालूम हो कि नरेंद्र मोदी सरकार ने कोरोना टीके के लिए 45 वर्ष की उम्र निर्धारित कर दी है, जबकि कोरोना हर उम्र के लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। ऐसे में विपक्ष सरकार को उम्र की सीमा खत्म कर सभी के लिए टीका उपलब्ध कराने को लेकर जनहित की लड़ाई लड़ रहा है।

गौरतलब है कि पूरे देश में कोरोना वायरस के खिलाफ चल रहे टीकाकरण अभियान के तहत 45 साल से अधिक उम्र के लोग टीका लगवा सकते हैं। इस बीच, राहुल गांधी ने कहा, ”महामारी के खिलाफ लड़ाई में स्वास्थ्यकर्मी हमारे योद्धा हैं। मैं नागरिकों की रक्षा करने की उनकी प्रतिबद्धता, साहस और समर्पण के लिए उनको सलाम करता हूं। मैं त्याग के लिए उनके परिवारों का भी आभार व्यक्त करता हूं।’

उन्होंने लोगों का आह्वान किया, ‘इस वायरस को नियंत्रित करने के लिए देश के नागरिक के तौर पर हमें अपने हिस्से की भूमिका निभानी होगी। हम मास्क लगाएं और दूसरे सभी प्रोटोकॉल का पालन करें। बता दें कि महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में कोरोना वायरस के नए मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिली है।

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को कहा कि लक्ष्य उन लोगों को वैक्सीन का प्रबंध करना नहीं है जो इसे चाहते हैं, बल्कि जिन्हें इसकी आवश्यकता है। मंगलवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया कि वे 18 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिकों को टीकाकरण कराने की अनुमति दें। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इसी तरह के अनुरोध किए।

error: Content is protected !!