आईसीएमआर और बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड ने तैयार की कोरोना की वैक्सीन, 15 अगस्त को होगा लांच

नई दिल्ली। कोविड-19 से निपटने के लिए वैक्सीन तैयार किए जाने की तैयारी अंतिम चरण में है। 7 जुलाई 2020 से क्लीनिकल ट्रायल प्रारंभ होगा। निर्धारित समय के मुताबिक 15 अगस्त 2020 से इसे जन स्वास्थ्य के लिए लांच किया जाएगा। यह वैक्सीन आईसीएमआर नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी पुणे और भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के द्वारा विकसित किया गया है।

भारत सरकार के सचिव स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं महानिदेशक आईसीएमआर प्रोफेसर ( डॉक्टर ) बलराम भार्गव के द्वारा जारी पत्र में यह बताया गया है कि आईसीएमआर द्वारा  भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के सहयोग से सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 के संबंध में एक वैक्सीन विकसित किया गया है।

इस वैक्सीन को सार्स कोविड 2 के वायरस को आईसीएमआर नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी पुणे और भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के द्वारा संयुक्त रूप अलग करके से विकसित किया गया है। दोनों संस्थाओं के द्वारा संयुक्त रूप से इस बीबीवी152 कोविड वैक्सीन का प्रीक्लिनिकल और क्लीनिकल ट्रायल विकसित किया गया है। यह संभावना व्यक्त की जा रही है 15 अगस्त 2020 तक जन स्वास्थ्य के लिए लांच किया जाना है। जिसके पहले इसमें क्लीनिकल ट्रायल पूर्ण किए जाने हैं।

इसके लिए कुछ संस्थाओं को चिन्हित किया गया है, जो कि बीबीवी152 कोविड वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल को 7 जुलाई 2020 से शुरू करेंगे।  सभी ट्रायल करने वाली संस्थाओं को इसे सर्वोच्च प्राथमिकता में रखकर बिना किसी त्रुटि के समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए गए।