मध्य प्रदेश

लहसुन उत्पादक किसान संगठित नहीं हैं इस कारण उनके साथ अन्याय नहीं हो – मुख्यमंत्री चौहान

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि लहसुन उत्पादक कृषकों को फसल के उपयुक्त दाम दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएँ। लहसुन उत्पादक किसान संगठित नहीं हैं इस कारण उनके साथ अन्याय नहीं हो। लहसुन के सही दाम दिलवाने के लिए जिला प्रशासन अपने स्तर पर कार्यवाही करे। मुख्यमंत्री चौहान प्रदेश की मंडी समितियों में लहसुन की आवक और उसके मूल्य की स्थिति के संबंध में निवास कार्यालय में बैठक में चर्चा कर रहे थे। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव किसान कल्याण अजीत केसरी तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य मिले, इस उद्देश्य से मंडियों में ग्रेडिंग की व्यवस्था स्थापित की जाए। साथ ही पश्चिम बंगाल, कर्नाटक सहित जिन राज्यों में लहसुन की माँग रहती है, वहाँ राज्य सरकार की ओर से प्रतिनिधि-मंडल भेजा जाए। बैठक में बताया गया कि देवास, धार, मंदसौर, नीमच, रतलाम और उज्जैन की मंडियों में ग्रेडिंग मशीन लगाई जाएगी। जारी वर्ष 2022-23 में अप्रैल से सितम्बर तक की अवधि में मंडियों में लहसुन की आवक गत वर्षों की तुलना में अधिक रही है।

Related Articles

Back to top button