लखनऊ/उत्तरप्रदेश

भाजपा राज में दलित की जूते से पिटाई: विरोध किया तो ठाकुर प्रधान पति ने जूतों से पीटा, फिर गले में पट्टा डालकर सड़क पर घसीटा …

मुजफ्फरनगर । उत्तर प्रदेश आतंक का गढ़ बन गया है। यहां दलितों पर अत्याचार तेजी से बढ़ा है। भारतीय जनता पार्टी का सुशासन होने के बाद भी ऊंची जातियों में खौफ नाम मात्र का भी नहीं है। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में सरेराह एक दलित को पीटने का वीडियो सामने आया है। कसूर सिर्फ इतना था कि दलित ने बिरादरी की पंचायत में ठाकुर प्रधान पति की मौजूदगी का विरोध कर दिया। बस फिर क्या था। ठाकुर प्रधान पति को तैश आ गया। उसने अपने रिश्तेदार के साथ मिलकर दलित युवक के गले में पट्‌टा डालकर उसे सड़क पर घसीटा। गालियां दीं और जूतों से बुरी तरह पीटा।

घटना शहर मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर भोपा थाना क्षेत्र के बिहारगढ़ गांव की है। यहां सोमवार को दलित समाज में लड़की से जुड़े किसी मामले में हुई मारपीट को लेकर दो पक्षों की पंचायत बुलाई गई। इसमें फैसला सुनाने के लिए ग्राम प्रधान ममतेश सिंह चौहान का पति संजय और उनके फूफा ओमप्रकाश पहुंच गए। बिरादरी की पंचायत में ठाकुर प्रधान पति को देखकर वहां एक दलित युवक झबर ​​​​​उर्फ ​काला ने विरोध किया।

काला ने कहा कि यह हमारी बिरादरी का मामला है। हम लोग निपटा लेंगे। आप लोग पहले कहां थे? बस, इसी बात पर ठाकुर संजय और रिश्वतेदार कमलेश भड़क गया। वह काला से मारपीट की कोशिश करने लगे। विवाद बढ़ा तो पंचायत में मौजूद लोगों ने समझाकर मामला शांत कराया।

पंचायत खत्म हुई तो संजय और उसका रिश्तेदार वहां से जाने लगे। तभी उनकी नजर वहीं खड़े दलित काला पर पड़ गई। गुस्से से भरे प्रधान पति ने काला को पकड़ लिया और उसके गले पर पट्‌टा डाला और सड़क पर खींचने लगा। तभी उसके फूफा कमलेश ने गालियां देते हुए उसे जूते से मारना शुरू कर दिया।।

पिटाई के मामले में थाना भोपा पुलिस ने काला की तहरीर पर प्रधान पति संजय और उसके फूफा ओमप्रकाश पर जानलेवा हमला और SC-ST की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Related Articles

Back to top button