मध्य प्रदेश

जबलपुर में अवैध कॉलोनाइजर्स पर प्रशासन ने कसा शिकंजा: 60 अवैध कॉलोनाइजर्स के लाइसेंस रद्द, 25 के खिलाफ एफआईआर दर्ज …

जबलपुर। अवैध कॉलोनाइजर्स पर जबलपुर जिला प्रशासन ने अपना शिकंजा कसते हुए जिले में अब तक प्रशासन ने 60 कॉलोनाइजर्स के लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। इनमें से 25 कॉलोनाइजर्स के खिलाफ एफआईआर भी की गयी है। लोगों को गुमराह कर नियम विरुद्ध ढंग से कॉलोनियां तानने वालों के खिलाफ प्रशासन की सख्ती से कॉलोनाइजर्स में हड़कंप मच गया है। प्रशासन ने यह कार्रवाई पिछले 8 माह के दौरान की है।

ज्ञात हो कि कॉलोनी बनाने के लिए न सिर्फ कई विभागों की अनुमति लेनी पड़ती है। इसके साथ ही कॉलोनाइजर लाइसेंस और विकास शुल्क भी जमा करना पड़ता है। लेकिन जबलपुर में कुछ बिल्डरों ने कहीं भी कॉलोनियाँ तान कर करोड़ों की कमाई करने का सिलसिला शुरू कर दिया है। इसी को देखते हुए प्रशासन ने ऐसे लोगों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। जिला प्रशासन ने 60 कॉलोनाइजरों के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ ही उनकी जमीनों की खरीद फरोख्त पर भी रोक लगा दी है।

नियमों की धज्जियां उड़ाकर बन रही कॉलोनियों में न तो बच्चों के खेलने के लिए गार्डन होता है न सही तरीके से सड़कें ही बनाई जाती हैं। इसके अलावा पार्किंग से लेकर पेयजल, जल निकासी की भी व्यवस्था नहीं होती। रहवासियों की ओर से लगातार की जा रही शिकायतों के बाद प्रशासन ने जब जांच कराई तो इन कॉलोनियों में ढेरों अनियमितताएं पाई गईं। इसके बाद जिला प्रशासन ने शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में फर्जी कॉलोनाइजर्स के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया। इसकी ज़द में अब तक 60 कॉलोनाइजर आ चुके हैं। अभी 100 और कॉलोनाइर प्रशासन के निशाने पर हैं। इनकी कुंडली भी प्रशासन ने तैयार कर ली है। शीघ्र ही इन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Back to top button