Breaking News
.

जिसने 23 साल पहले दी थी सुपारी, अब उसे ही मौत के घाट उतारा, जानें पूरा मामला …

नई दिल्ली। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में मिलक लच्छी गांव के पास प्रॉपर्टी डीलर मंजीत सिंह की हत्या के आरोपी शार्प शूटर को बिसरख पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से हत्या में इस्तेमाल पिस्तौल और गाड़ी बरामद कर ली है। यशपाल ने सेना से रिटायर होने के बाद प्रॉपर्टी का काम शुरू किया था। मनजीत उसका पार्टनर था। एक जमीन के सौदे में मिले 10 लाख के कमीशन को लेकर मंजीत और यशपाल में विवाद हो गया था। इस रकम में से यशपाल को कुछ नहीं मिला था। इसके बाद यशपाल ने मनजीत की हत्या करने के लिए शूटर को 10 लाख की सुपारी दी थी। हत्या में शामिल एक अन्य आरोपी कपिल अभी फरार चल रहा है। पूछताछ में पता चला है कि प्रॉपर्टी बेचकर मिले 10 लाख के कमीशन के चक्कर में घटना को अंजाम दिया गया था। 

बिसरख कोतवाली प्रभारी अनीता चौहान ने बताया कि प्रॉपर्टी डीलर मनजीत की हत्या में फरार चल रहे शार्प शूटर संजय टाइगर निवासी खेड़ा भनौता को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपी को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में बताया कि मनजीत के दोस्त यशपाल ने हत्या की साजिश रची थी। यशपाल ने सेना से रिटायर होने के बाद प्रॉपर्टी का काम शुरू किया था। मनजीत उसका पार्टनर था। एक जमीन के सौदे में मिले 10 लाख के कमीशन को लेकर मंजीत और यशपाल में विवाद हो गया था। इस रकम में से यशपाल को कुछ नहीं मिला था। इसके बाद यशपाल ने मनजीत की हत्या करने के लिए शूटर को 10 लाख की सुपारी दी थी।

करीब 9 दिनों पहले ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक मूर्ति गोल चक्कर के पास कार सवार मंजीत सिंह की हत्या गोली मारकर कर दी गई थी। मृतक मंजीत नोएडा के सेक्टर 78 स्थित अंतरिक्ष अपार्टमेंट में रहता था। पुलिस को शुरू से ही इस मामले की जांच के दौरान हत्या में किसी जानकार का हाथ होने का शक था।

दरअसल, 1998 में मंजीत के भाई की हत्या कर दी गई थी। भाई की हत्या का बदला लेने के लिए मंजीत ने शूटर संजय टाइगर से आरोपियों की हत्या करवाई थी। उस दौरान 5 लाख की सुपारी तय हुई थी जो कि शूटर संजय को नहीं मिली थी। इसके चलते संजय भी मंजीत से रंजिश रखता था। वहीं, यशपाल ने मंजीत की हत्या करने के लिए शूटर संजय को दस लाख की सुपारी दी थी।

error: Content is protected !!