Breaking News
.

पंजाब में मोदी सरकार की बढ़ेगी टेंशन, अग्निपथ स्कीम का होगा किसान आंदोलन जैसा विरोध! विधानसभा में पारित होगा प्रस्ताव ..

नई दिल्ली। मोदी सरकार को पंजाब से बड़ा टेंशन मिल रहा है। यहां किसान आंदोलन के बाद अब अग्निपथ स्कीम का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब पंजाब सरकार भी केंद्र सरकार की योजना के विरुद्ध सर्वदल प्रस्ताव लाने वाली है। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मंगलवार को पंजाब विधानसभा के मौजूदा सत्र में इस बारे में वादा किया। इस रिजॉल्यूशन की मांग कांग्रेस विधायक प्रताप बाजवा ने की थी। वहीं भाजपा विधायक अश्वनी शर्मा ने इसका विरोध किया।

भाजपा विधायक शर्मा ने कहा कि इस मुद्दे पर सदन को गुमराह किया जा रहा है। इसके बाद सदन में सदस्यों के बीच गर्मागर्म बहस भी हुई थी। सदन में सिद्धू मूसेवाला के एसवाईएल सांग पर भी चर्चा हुई। शून्यकाल के दौरान कांग्रेस विधायक सुखपाल खैरा ने भाजपा की शिकायत पर इस गाने को यूट्यूब से हटाने की निंदा किए जाने की मांग की। इस पर मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि वह भी फ्रीडम ऑफ स्पीच के फेवर में हैं। इस दौरान शिक्षामंत्री मीत हेयर ने सदन को सूचित किया कि चंडीगढ़ की पंजाब यूनिवर्सिटी के नेचर और कैरेक्टर में बदलाव को लेकर प्रस्ताव लाया जाएगा।

गौरतलब है कि अग्निपथ स्कीम के तहत सेना में 4 साल के लिए अग्निवीरों को भर्ती किए जाने की योजना है। इसके विरोध में देशभर में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए हैं। इसको लेकर बिहार समेत कई राज्यों में ट्रेनों में तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाएं भी सामने आई हैं। वहीं कांग्रेस इस योजना के विरोध में जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन कर रही है। कांग्रेस इस योजना को वापस लिए जाने की मांग कर रही है। वहीं रक्षा मंत्रालय और सरकार की तरफ से स्पष्ट कर दिया गया है कि अग्निनपथ स्कीम रोलबैक नहीं होगी।

error: Content is protected !!