Breaking News
.

दिल्ली दरबार: उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में किसकी जीत और किसकी हार …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत के अध्यक्ष पद के लिए हो रहे चुनाव में 17 उम्मीदवारो के सामने कोई उम्मीदवार नहीं है। आशय साफ है कि इन उम्मीदवारों की जीत तय है। इससे पहले जिला पंचायत के सदस्यों के लिए हुए चुनाव में समाजवादी पार्टी के अधिक सदस्य चुनाव जीते। माना जा रहा था कि समाजवादी पार्टी जिला पंचायत के अध्यक्ष पद के लिए हो रहे चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करेगी। लेकिन पासा पलट गया।

अब भाजपा ज्यादातर सीटों पर चुनाव जीतती दिखाई पड़ रही है। कारण साफ है कि इस तरह के चुनाव में जिसकी सत्ता होती है या जिसके पास धनबल और बाहुबल है वह चुनाव जीतता है। कुछ ऐसा ही इस चुनाव में भी हो रहा है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव इसे लोकतंत्र की हत्या करार दे रहे हैं तो भाजपा अखिलेश को एयर कंडीशन वाला नेता बता रही है। कुछ हद तक भाजपा के नेताओं की बात में दम भी नजर आ रहा है। अखिलेश केवल ट्वीट करके सियासत कर रहे हैं तो भाजपा नेता जिले जिले जाकर उम्मीदवार और मतदाताओं से मिल रहे हैं और जीत की रणनीति तैयार कर रहे हैं। अब सियासत में साम, दाम, दंड, भेद सब कुछ चल रहा है। ऐसे में किसी को दोष देने की बजाय वही नीति अपनानी चाहिए जो दूसरे कर रहे हैं।

error: Content is protected !!